नालागढ़-स्वारघाट एनएच के सात पुल होंगे चौड़े

 नालागढ़—नालागढ़-स्वारघाट एनएच-105 मार्ग पर आने वाले छोटे व तंग पुलों को चौड़ा बनाने के लिए कंसल्टेंसी टेंडर अवार्ड कर दिए गए है। कंसल्टेंट अब इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करेगा, जिसके उपरांत डीपीआर तैयार होगी। डीपीआर मंजूरी के लिए केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय को सौंपी जाएगी, जहां से इसकी स्वीकृति मिलने के उपरांत काम के टेंडर अवार्ड होंगे, जिससे नालागढ़ से स्वारघाट तक आने वाले मार्ग के तंग पुलों को चौड़ा कर दिया जाएगा। तंग पुल हादसों का कारण बन रहे है, जिससे वाहन चालकों सहित लोगों को जल्द ही निजात मिलने वाली है। जानकारी के अनुसार नालागढ़ से बगलैहड़ और बगलैहड़ से स्वारघाट तक इस मार्ग की चौड़ाई का काम तो हो चुका है, लेकिन इसके मध्य आने वाले पुलों की चौड़ाई नहीं बढ़ाई गई है। तंग पुल वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बन रहे है और नालागढ़ से पंजैहरा तक मार्ग पर आने वाले इन तंग पुल हादसों के कारण बनते है, लेकिन अब इन पुलों को चौड़ा बनाया जाएगा। एनएच विभाग के मुताबिक कुंडलू, महादेव व चिकनी के पुल लंबे और चौड़े है और इनके अलावा इस मार्ग पर आने वाले सात अन्य सिंगल व तंग पुलों की चौड़ाई का काम किया जाएगा। कंसल्टेंट द्वारा इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट और डीपीआर तैयार की जाएगी, जिसे केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय को आगामी कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा, जहां से इसकी स्वीकृति मिलते ही इनके टेंडर कर कार्य शुरू किए जाएंगे।  एनएच विभाग के एसडीओ कुलदीप सिंह ने बताया कि नालागढ़ से स्वारघाट हाई-वे तक कई पुल आते है, जिनमें कुंडलू, महादेव व चिकनी-चार बड़े पुल पहले से बने हुए है, लेकिन इसके मध्य सात ऐसे पुल आते है, जो सिंगल व तंग है, जिनका चौड़ा करने का काम किया जाएगा। एनएच विभाग के एक्सईएन कुलवीर सिंह ठाकुर ने कहा कि कंसल्टेंसी के टेंडर अवार्ड कर दिए गए है और कंस्लटेंट अपनी फिजिबिलिटी रिपोर्ट व डीपीआर तैयार करके देगा, जिसे केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय को आगामी कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा, जहां से इसकी स्वीकृति उपरांत इसके टेंडर करके कार्य अवार्ड किया जाएगा और तंग पुलों को चौड़ा करने का कार्य आरंभ होगा।

You might also like