नाहन को प्रतिदिन मिल रहा 54 लाख लीटर पानी

नाहन—विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल के प्रयासों के फलस्वरूप नाहन की वर्षों पुरानी पेयजल समस्या का समाधान संभव हुआ है और इस वर्ष गर्मी के मौसम में भी सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा 54 लाख लीटर पानी प्रतिदिन नाहन शहर के लोगों को उपलब्ध करवाया जा रहा है। गत वर्ष गर्मियों के मौसम में भी नाहन शहर के नागरिकों को सामान्य रूप से पेयजल उपलब्ध करवाने में भी  विभाग सफल हुआ है। यह जानकारी देते हुए अधीक्षण अभियंता आईपीएच जोगिंद्र चौहान ने शनिवार को यहां विशेष बातचीत के दौरान देते हुए बताया कि उचित मार्गदर्शन और बेहतर प्रबंधन के फलस्वरूप इस वर्ष भी गर्मी के मौसम में नाहन शहर में पेयजल आपूर्ति सामान्य रूप से क्रियाशील बनी हुई है। उन्होंने कहा कि डा. राजीव बिंदल द्वारा नाहन की दो पुरानी पेयजल योजना नेहरस्वार और खैरी के जीर्णोंद्धार के लिए लगभग 13 करोड़ की राशि उपलब्ध करवाई गई, जिसमें से लगभग सवा आठ करोड़ की राशि 107 वर्ष पुरानी नेहरस्वार पेयजल योजना के पुनर्द्धार और पांच करोड़ की राशि खैरी योजना की आवश्यक मरम्मत पर व्यय की गई। जोगिंद्र चौहान ने बताया कि नाहन शहर की दोनों योजनाओं के जीर्णोंद्वार से लगभग 20 लाख लीटर प्रतिदिन पेयजल में बढ़ौतरी हुई है। उन्होंने बताया कि राजस्व आंकड़ों के अनुसार नाहन शहर की आबादी लगभग 33 हजार है, जबकि शहर के विभिन्न संस्थानों में शिक्षा ग्रहण करने आए बच्चों, सरकारी कर्मचारियों और प्रवासी मजदूरों इत्यादि के कारण शहर में पेयजल आपूर्ति लगभग 80 हजार की आबादी को की जा रही है। उन्होंने कहा कि शहर में लोगों की सुविधा के लिए 153 सार्वजनिक नल लगाए गए हैं। इसके अतिरिक्त 400 से अधिक व्यवसायिक पानी कनेक्शन दिए गए हैं, जबकि 10800 घरेलू कनेक्शन क्रियाशील हैं। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि नेहरस्वार पेयजल योजना से 11 लाख लीटर पानी प्रतिदिन और खैरी पेयजल योजना से 29 लाख लीटर पानी के अतिरिक्त लगभग अढ़ाई लाख लीटर पानी शहर में स्थापित हैंडपंपों से उपलब्ध हो रहा है। इसके अतिरिक्त गिरि उठाऊ पेयजल योजना से भी 12 लाख लीटर पानी प्रतिदिन शहर में उपलब्ध हो रहा है। वर्तमान में 54 लाख लीटर पेयजल की आपूर्ति प्रतिदिन नाहन शहर में विभाग द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा कि नाहन शहर के साथ लगते गांव देवका-पुड़ला को भी नाहन की पेयजल योजना से जोड़ा गया है, जिससे इस पंचायत के अनेक गांव के लोगों को गर्मी के मौसम में पेयजल उपलब्ध होने से राहत मिली है। उन्होंने कहा कि आगजनी जैसी घटनाओं से निपटने के लिए भी अतिरिक्त पानी संजोए रखा है। जोगिंद्र चौहान ने बताया कि नाहन शहर मंे पेयजल वितरण प्रणाली प्रणाली के सुधार के लिए सात करोड़ की राशि व्यय की जाएगी, जिसके लिए टैंडर प्रक्रिया प्रगति पर है। इसके अंतर्गत शहर दशकों पुरानी पाइपों, गैटवाल चैंबर इत्यादि के बदलने के अतिरिक्त 45 हाईड्रेट भी बदले जाएंगे। श्री चौहान ने कहा कि अनेक लोगों द्वारा टुल्लू पंप लगाए जाते हैं, जिससे अन्य लोगों को पेयजल समस्या उत्पन्न हो जाती है। उन्होंने कहा कि लोगों को पेयजल के महत्त्व बारे जागरूक करने के लिए विशेष अभियान भी आरंभ किया जाएगा।

You might also like