निजी अस्पतालों को सरकार का ऑफर

शिमला – प्रदेश सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के तहत निजी अस्पतालों को फिर से ऑफर दिया गया है। हालांकि अभी प्रदेश में 46 निजी अस्पतालों को इम्पैनल कर दिया गया है। वर्तमान में प्रदेश के सरकारी और निजी दोनों को मिलाकर 202 अस्पताल इम्पैनल हो चुके हैं, जिसमें से 156 सरकारी और 46 निजी क्षेत्र के अस्पताल शामिल हैं। इन अस्पतालों में निःशुल्क इलाज हो रहा है। प्रदेश सरकार ने राज्य में संचालित निजी अस्पतालों को इस योजना से इम्पैनल होने का ऑफर दिया है। इसके लिए किसी भी निजी अस्पताल प्रबंधन को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। जिन निजी अस्पतालों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हैं, उन्हें इम्पैनल किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक आयुष्मान भारत योजना के तहत इम्पैनल के लिए निजी अस्पतालों से आवेदन आ रहे हैं। आवेदन के 15 दिन के भीतर जिला स्तर पर गठित की गई इम्पैनल कमेटियां निजी अस्पतालों का निरीक्षण करेगी। प्रदेश सरकार ने जिला स्तर पर सीएमओ की अध्यक्षता में इम्पैनल कमेटियां गठित कर दी हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश के 22 लाख लोगों को इस योजना में शामिल किया जाना है। इस योजना के तहत 1800 बीमारियों का उपचार अस्पतालों में निःशुल्क करवाया जा सकेगा। योजना के तहत डिजिटल कार्ड जारी किए जाएंगे, जो पेपरलैस होने के साथ कैशलैस भी होंगे। इस योजना के तहत प्रति परिवार प्रति वर्ष पांच लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त होगा। लोगों को इस योजना का बेहतर लाभ देने के लिए प्रदेश सरकार अधिक से अधिक निजी अस्पतालों को इम्पैनल करने जा रही है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना के तहत पंजीकरण 20 जून तक कर सकते हैं। हिमकेयर योजना के तहत अब तक प्रदेश के चार लाख 30 हजार लोग पंजीकृत हो चुके हैं। इस योजना के तहत अब तक प्रदेश के 14 हजार मरीज लाभान्वित हुए और 16 करोड़ रुपए खर्च किए गए। प्रदेश सरकार ने हिमकेयर योजना के तहत पांच लाख लोगों का पंजीकरण करने का लक्ष्य रखा है।

You might also like