निलंबन पर कांग्रेस का यू-टर्न

हमीरपुर पार्लियामेंट्री सीट के सदस्यों को हटाने से मुकरी

हमीरपुर —करीब दो रोज पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने वरिष्ठ नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में जिन तीन कांग्रेस सदस्यों को हटाने की बात कही थी, पार्टी ने सोमवार को उस पर यू टर्न ले लिया है। हालांकि इनमें पांवटा साहिब से निलंबित किए अल्प संख्यक मोर्चा के संयोजक पर पार्टी का वही स्टैंड रहा है, लेकिन हमीरपुर पार्लियामेंट्री से हटाए दोनों पार्टी सदस्यों पर यू टर्न ले लिया है। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के राजनीतिक सचिव हरिकृष्ण हिमराल ने कहा है कि हमीरपुर जिला के नादौन से ताल्लुक रखने वाले सोशल मीडिया सेल के प्रभारी विवेक कटोच और ऊना से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस के पदाधिकारी अजय जगोता पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। हैरत की बात है कि तीन दिन पहले इन्हीं के हवाले से बयान जारी हुआ था कि पार्टी के उपरोक्त तीन सदस्यों ने पूर्व सीएम पर सोशल मीडिया में आपत्तिजनक टिप्पणी की है, जो कि अनुशासनहीनता है और उन्हें सस्पेंड किया जाता है। खैर ज्येष्ठ के इस महीने की तपती आब-ओ-हवा में कांग्रेस की हांडी में अंदरखाते क्या पक रहा है, यह तो कांग्रेस ही जाने, लेकिन एक बात तो लाख टका सही है कि सुक्खू आज भले ही पार्टी के अध्यक्ष नहीं हैं, लेकिन उन्होंने अपनी ताकत का एहसास सबको करा दिया है और साथ ही इंडायरेक्टली यही भी चेता दिया है कि उनके आदमियों के साथ छेड़छाड़ करती बार एक बार जरूर सोच लें। आपको बता दें कि सुक्खू की कांग्रेस हाईकमान के साथ काफी नजदीकियां हैं। राहुल गांधी के साथ उनकी करीबियां जगजाहिर हैं। अब तीन दिन के भीतर प्रदेश कांग्रेस ने जो यू टर्न लिया है उसमें कहीं न कहीं ये नजदीकियां कारगर साबित हुई हैं, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता।

You might also like