निवेशकों को न्योता दे शिमला लौटे सीएम

कहा; निवेश लाने के लिए पहली बार बड़े स्तर पर प्रयास, जल्द आएंगे सकारात्मक परिणाम

शिमला —अपनी टीम के साथ जर्मनी और नीदरलैंड्स से निवेश लाने को विदेश गए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सोमवार शाम को शिमला पहुंच गए। मंगलवार से सीएम अपने कार्यालय को संभालेंगे। नौ जून को सीएम विदेश दौरे पर निकले थे और करीब एक सप्ताह के बाद हिमाचल लौटे हैं। शिमला लौटने के बाद मुख्यमंत्री ने अनौपचारिक बातचीत में कहा कि बोलने वाले चाहे कुछ भी कहें, लेकिन पहली दफा हिमाचल सरकार की ओर से इस तरह का पहला बड़ा प्रयास किया गया है। इस प्रयास के जल्द ही सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। सीएम ने अपने विदेश दौरे को बेहद सफल करार दिया और कहा कि जर्मनी व नीदरलैंड्स के कई निवेशक यहां पर निवेश के लिए इच्छुक हैं। वहां कई कंपनियों के साथ बागबानी, कृषि, पर्यटन, ऊर्जा व तकनीक के क्षेत्र में एओयू किए गए हैं। वहां के निवेशकों के साथ विस्तार से चर्चा की गई है, जो यहां पर इन्वेस्टर मीट में शामिल होने के लिए भी आएंगे। लोगों का बेहतर रुझान मिला है। जयराम ठाकुर ने बताया कि एक बड़े विश्वविद्यालय के साथ यहां पर कृषि क्षेत्र में तकनीक को लेकर एमओयू किया गया है, जिससे हिमाचल को बेहद फायदा मिलेगा। सरकारी व निजी क्षेत्र यदि मिलकर प्रयास करें तो देश व प्रदेश तेजी के साथ विकास करेगा। सरकार ने सोचा है और ऐसा प्रयास भी किया जा रहा है, जो निजी क्षेत्र को अपना पूरा सहयोग देगी।

प्रदेश में आएग बड़ा बदलाव

सीएम ने कहा कि हिमाचल के पास एशिया का सबसे बड़ा फार्मा हब है और कई विदेशी कंपनियां यहां निवेश की इच्छा रखती हैं। क्योंकि पहली दफा सरकार न्योता देने उनके पास पहुंची, तो उन्होंने इसे स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में होने वाली इन्वेस्टर मीट के बाद यहां परिणाम दिखाई देने शुरू हो जाएंगे। निवेश और रोजगार के क्षेत्र में एक बड़ा बदलाव आने वाले समय में आएगा यह तय है।

रोहतांग सुरंग खुल जाने से अगले साल पर्यटकों को नहीं आएगी दिक्कत

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस सीजन हिमाचल में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे हैं, जिनकी सुविधा के लिए सरकार ने सभी सैरगाहों पर विशेष प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि रोहतांग में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे हैं, जिससे मनाली पूरी तरह भरा हुआ है। रोहतांग सुरंग का सुचारू न होना दुखद है, परंतु उन्हें विश्वास है कि यह परिस्थिति अगले साल नहीं होगी। अगले साल से रोहतांग सुरंग सुचारू रूप से चलेगी, जिससे वहां पर्यटकों को राहत मिलेगी। डीसी कुल्लू को इसे सुनिश्चित बनाने के लिए कहा गया है।

You might also like