नौकरियों के सहारे विधानसभा चुनाव पर निशाना

पंचकूला। गु्रप-डी के भर्तियों को लेकर वाहवाही लूट कर लोकसभा में बेहतरीन परिणाम पा कर गदगद हरियाणा की भाजपा सरकार ने अब नौकरियों का पिटारा खोल कर उनमें पारदर्शिता का तुरप विधानसभा में प्रयोग के लिए कमान पर सजा लिया है। जींद उपचुनाव से ठीक पहले गु्रप डी के 18 हजार 218 पदों के नतीजे घोषित कर मास्टर स्ट्रोक खेलने वाली सरकार ने गु्रप-सी और डी की नौकरियों में इंटरव्यू खत्म कर भ्रष्टाचार के तमाम रास्ते बंद कर दिए हैं। हालांकि राज्य में अभी हुए सहायक प्रोफेसर जैसे पदों के परीक्षाओं में बडे़ पैमाने पर धांधलियों के आरोप लगे हैं। मगर अब खुले भर्तियों के पिटारे का पारदर्शिता का जामा पहनाने को लेकर भाजपा सरकार ने विधानसभा चुनाव के लिए असरदार हथियार के तौर पर प्रयोग की तैयारी कर ली है। पार्टी इसे सफलता के मंत्र के रूप में  कार्यकर्ताओं को देगी और इसे मुख्य मुद्दा बनाएगी। इस मुद्दे का असर लोकसभा चुनाव में भी होने का पार्टी का दावा रहा है अब भाजपा इसे बडे़ पैमाने पर विधानसभा चुनाव में भुनाने की तैयारी में है।

You might also like