नौहराधार में सेब, आड़ू पर ओलावृष्टि की मार

नौहराधार—जिला सिरमौर के ऊंचाई वाले क्षेत्र नौहराधार में बुधवार रात को तेज तूफान व ओलावृष्टि से बागबानों को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। बुधवार देर शाम को पहले तेज तूफान चला व बाद में ओलावृष्टि हुई जिसके कारण फलदार पौधों को काफी नुकसान हुआ है। नौहराधार के चौरास, फागनी, टारना तलांगना, जौ का बाग, उलाना आदि क्षेत्रों में ओलावृष्टि ने कहर बरपाया है। बागबानों के सेब, आड़ू 70 फीसदी झड़ गए तथा बचे आड़ू, सेब के दानों में दाग लग गया है। ओलावृष्टि से कई स्थानों पर फ्रांसबीन की फसल खेतों में पूरी तरह से बिछ गई है। इसके अलावा टमाटर की फसलों को भी भारी नुकसान हो गया है, जिस कारण किसानों की आर्थिकी पर विपरीत असर पड़ने की आशंका बन गई है। हालांकि कई बड़े बागबानों ने ओलावृष्टि से फसल को बचाने के लिए अपने बागीचों में जालियां लगाई गई हैं, मगर छोटे बागबान जिनके बागीचों में जालियां नहीं लगी हैं ओलावृष्टि से उनके बागीचों में भारी नुकसान की सूचना है।  उधर, एसएमएस उद्यान विभाग राजगढ़ यूएस तोमर ने बताया कि नौहराधार, चाड़ना, अंधेरी केंद्र में बागबानों के बागीचों को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि विभागीय रिपोर्ट के अनुसार क्षेत्र में 2.82 करोड़ का नुकसान हुआ है, जिसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जा रही है। उन्होंने बताया कि बागबानों के नुकसान का विभाग हरसंभव मदद करेंगे।

You might also like