न बिजली; न पानी, कहां हैं विधायक

घुमारवीं—घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में बिजली पानी व स्वास्थ्य के लिए त्राही-त्राही हो रही है तथा जिस उम्मीद से लोगों ने विधायक को भारी बढ़त दिलाकर विधानसभा भेजा था, वे उम्मीदें धराशायी होती नजर आ रही हैं। यह कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व विधायक राजेश धर्माणी ने घुमारवीं में कही। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में बिजली के बार-बार कट लग रहे हैं तथा इन कटों का कोई समय नहीं है, ये किसी भी समय लग जाते हैं। उन्होंने कहा कि अभी गर्मी की शुरुआत ही हुई है तथा लोग पानी के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं तथा लोग जब संबंधित अधिकारियों को फोन करते हैं तो उनके फोन स्विच ऑफ  होते हैं। जिस तरह से घुमारवीं शहर में पीने की स्कीमों को 22 घंटे चलाया जाता है, उसी तर्ज पर ग्रामीण इलाकों में भी स्कीमों को चलाया जाना चाहिए, ताकि लोगों के पीने के पानी की समस्या दूर हो सके। उन्होंने कहा कि घुमारवीं व भराड़ी अस्पताल में डाक्टरों की कमी की समस्या से लोगों को दो चार होना पड़ रहा है, जिसका पता अस्पताल में लंबी कतारों से लग जाता है। जब भाजपा सरकार बनी थी, उस समय भराड़ी अस्पताल में आरकेएस के खाते में 25 लाख का बजट था, जो आज शून्य है तथा वह कहां खर्च किया गया कहीं भी नजर नहीं आ रहा है। भराड़ी अस्पताल में डेढ़ वर्ष से एक्स-रे की मशीन पर अटेंडेंट न होने से लोगों को एक्स-रे बाहर करवाने पड़ रहे हैें। उन्होंने कहा कि अगर सरकार अस्पतालों में डाक्टर उपलब्ध नहीं करवा सकती तो उनमें ताले लगवा देने चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी सरकार के समय कई योजनाएं विधायक प्राथमिकता में डाली थीं, जिनके लिए धन भी मंजूर करवाया गया था। उनमें से कई योजनाएं तो शुरू ही नहीं की गई व कुछ को रोक दिया गया है। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ वर्ष में यहां कोई काम नहीं हुआ है। अगर हुआ है तो पिछली सरकार के समय की 30 से ज्यादा उद्घाटनों व शिलान्यास पट्टिकाओं को तोड़ने का कार्य हुआ है। उन्होंने सरकार व स्थानीय विधायक से आग्रह किया है कि लोगों को इन समस्याओं से जल्दी से जल्दी निजात दिलाई जाए, ताकि लोग राहत की सांस ले सकें।

You might also like