पंजाब के मुकेरियां में पकड़े चोर

कार चुराते समय चढ़े पुलिस के हत्थे; इंदौरा में हुई चोरी की वारदातों कबूला

ठाकुरद्वारा—थाना इंदौरा के अंतर्गत एक गांव में कुछ दिन पहले चोरी की घटना को अंजाम देने के जुर्म में दो चोरों को चोरी किए गए गहनों सहित गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। थाना इंदौरा के प्रभारी सुरिंद्र सिंह धीमान ने बताया के पांच-छह मई मध्य रात्रि को इंदौरा के तहत पड़ते गांव चनौर में कुछ लोगों ने एक वकील के घर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था और आभूषण आदि लेकर चोर फरार हो गए थे। पुलिस ने चोरों के खिलाफ  मामला दर्ज किया था और पुलिस उसी दिन से जगह-जगह नाके लगाकर  चोरो की तलाश का अभियान छेड़ा था और इस संबंध में नजदीक पड़ते पंजाब क्षेत्र के थानों में भी इसके बारे में सूचित किया था और 11 मई को एक गाड़ी नाका तोड़कर फरार हो गई थी। कुछ दिनों बाद यही चोर अपनी गाड़ी बदलकर इंदौरा क्षेत्र में आए थे और फिर गाड़ी को देर तंज रोड के किनारे छोड़कर भाग खड़े हुए थे और उस गाड़ी को चेक करने पर उसमे तेजदार हथियार पाए गए थे और पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। इस दौरान उक्त आरोपी पंजाब के मुकेरियां में किसी की कार को चुराते हुए पंजाब पुलिस के काबू चढ़ गए और उन्होंने बयान दिया था कि उन्होंने इंदौरा क्षेत्र में भी इन वारदातों को अंजाम किया था। सूचना मिलने पर उक्त दोनों चोरों को पंजाब पुलिस से हिमाचल पुलिस थाना इंदौरा में लाया गया और रिमांड मिलने पर दोनों से पूछताछ करने पर उन्होंने माना कि उन्होंने ही इंदौरा के चनौर में चोरी की थी और वहीं, कुछ दिन पहले तेजदार हथियारों से लैस मारुति गाड़ी को रोड किनारे खड़ी करके भागे थे। आरोपियों की पहचा मंजु पुत्र सतीश निवासी रोड़ी खलेेट तहसील पालमपुुुर और दूसरे की पहचान बिहारी लाल पुत्र मुकेश निवासी खुडि़या पालमपुर के रूप में हुई है। इस गिरोह में तीसरे मुख्य आरोपी को भी थाना मुकेरियां की पुलिस गिरफ्तार कर लिया है। इंदौरा थाने में लाए गए दोनों चोरी के आरोपियों को इंदौरा में कोर्ट में पेश किया गया, जिन्हें आज 14 दिन की न्यायक हिरासत में नुरपूर जेल भेज दिया गया है और आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

You might also like