पंजाब-हरियाणा की तर्ज पर मिले पेंशन

पत्रकारों ने राज्य स्तरीय समस्याओं को लेकर किया मंथन

कसौली -प्रेस क्लब कसौली की एक बैठक संगठन के मुख्य सलाहकार हेमंत शर्मा की अध्यक्षता में हुई। जिसमें हिमाचल प्रदेश यूनियन ऑफ  जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष रणेश राणा मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित हुए। लघु उद्योग भारती के प्रदेश महामंत्री विकास सेठ विशेषतौर पर उपस्थित रहे। सर्वप्रथम प्रेस क्लब कसौली के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मनमोहन संधू ने क्लब की गतिविधियों बारे विस्तार से जानकारी दी और उसके बाद समस्त सदस्यों ने एचपीयूजे का दामन थाम लिया। मनमोहन संधू ने बताया कि पूर्व की सरकारों ने पत्रकारों को सुविधाएं देने में गुरेज किया है और हमें वर्तमान सरकार से आस है कि हमारी समस्याएं हल होंगी। उन्होंने कहा कि हमारी प्रमुख मांगो में पंजाब-हरियाणा की तर्ज पर पेंशन देना, उपमंडल पर दो व जिला पर तीन पत्रकारों को मान्यता देना, पत्रकारों का स्वास्थ्य बीमा करना, जिला व प्रदेश की तर्ज पर उपमंडल के पत्रकारों को भी लैपटॉप देना, हर उपमंडल पर प्रेस क्लब का निर्माण होना, फील्ड में कार्य करके सरकार की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को भी सुविधाएं प्रदान करना आदि शामिल है। प्रदेशाध्यक्ष रणेश राणा ने कहा कि एचपीयूजे प्रदेश में एकमात्र संगठन है जो कि पत्रकारों की मांगों को हर उपमंडल पर जाकर उठा रहा है। शीघ्र ही पत्रकारों की पूरी समस्याओं का खाका बनाकर सीएम जयराम ठाकुर को सौंपा जाएगा। हेमंत शर्मा व पवन कुमार ठाकुर को प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया। इस अवसर पर प्रेस क्लब कसौली के अध्यक्ष मनमोहन संधू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष मदन मैहरा, महासचिव राजीव नेगी, मुख्य सलाहकार हेमंत शर्मा, सलाहकार भूपेंद्र शर्मा, पवन कुमार व सुमित सिंगला सहित कई सदस्य उपस्थित रहे।

कसौली को उपमंडल बनाने की उठी मांग

प्रेस क्लब कसौली के अध्यक्ष मनमोहन संधू ने कहा कि हमारा दुर्भाग्य है कि कसौली को अभी तक एसडीएम कार्यालय नसीब नहीं हुआ है। कसौली के उपमंडल न बनने से किसी भी पत्रकार को मान्यता नहीं मिल पा रही है। उन्होंने स्थानीय विधायक व मंत्री राजीव सहजल से मांग की कि शीघ्र ही एसडीएम कार्यालय से महरूम कसौली में एसडीएम कार्यालय खोला जाए ताकि यहां विकास की गति तेज हो सके।

 

You might also like