परमिट न मिलने पर टैक्सी आपरेटर लाल

मनाली—रोहतांग दर्रे के दीदार के लिए जहां पर्यटकों सहित स्थानीय टैक्सी आपरेटर को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं शुक्रवार को रोहतांग का परमिट न मिलने के चलते टैक्सी आपरेटरों ने मालरोड पर रोष प्रदर्शन भी किया। इस दौरान टैक्सी आपरेटरों ने मनाली प्रशासन के खिलाफ  नारे लगाए। वहीं एसडीएम मनाली के खिलाफ  जमकर अपना गुबार निकाला।  टैक्सी आपरेटर लाहुल के लिए परमिट न मिलने के चलते कुछ दिनों से प्रशासन की कार्यप्रणाली से नाराज चल रहे थे। शुक्रवार को भी कुछ टैक्सी आपरेटर जब लाहुल के लिए परमिट लेने के लिए एसडीएम कार्यालय पहुंचे तो उन्हें वहां पर लाहुल के किसी होटल की बुकिंग स्लिप दिखाने के लिए कहा गया। ऐसे में टैक्सी आपरेटर भड़क गए और उन्होंने टैक्सी कार्यालय के बाहर एसडीएम मनाली व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करनी शुरू कर दी। टैक्सी आपरेटरों का कहना है कि प्रशासन द्वारा लाहुल स्पीति के होटलों की बुकिंग स्लिप मांगना गलत है। उनका कहना है कि अगर सैलानी एक दिन में लाहुल जाकर रात को वापस मनाली आना चाहता है तो वह होटल की बुकिंग स्लिप कैसे ले सकते हैं। उनका कहना है कि सैलानियों की  अपनी मर्जी है कि वह लाहुल के उदयपुर सहित अन्य धार्मिक स्थलों के दर्शन कर रात को वापस मनाली आएं या लाहुल में रहें। बरहाल शुक्रवार को मनाली में जहां एसडीएम के खिलाफ  टैक्सी चालकों ने मोर्चा खोल डाला। वहीं रोहतांग दर्रे के दीदार के लिए सैलानियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा माल रोड पर गरजे टैक्सी चालकों के समर्थन में स्थानीय लोगों ने भी अपनी आवाज बुलंद की और प्रशासन से व्यवस्था को सरल करने की बात कही। उधर, एसडीएम मनाली अश्वनी कुमार का कहना है कि नियमों के तहत ही रोहतांग व लाहुल के परमिट जारी किए जा रहे हैं।

You might also like