परी माता मंदिर में मंत्री सहजल ने नवाया शीश

सोलन—सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डा. राजीव सहजल ने कहा कि मेले व त्योहार प्रदेश की समृद्ध संस्कृति की परिचायक है तथा इनसे ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में लोगों को आपसी मेलजोल को बढ़ावा मिलता है। डा.सहजल शनिवार देर सायं कसौली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत काबा कलां के गांव नाऊ स्थित परी माता मंदिर परिसर में सुप्रसिद्ध एवं ऐतिहासिक परी माता मेला के अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। डा. सहजल ने सर्वप्रथम परी माता मंदिर में माथा टेक कर परी माता का आशीर्वाद प्राप्त किया तथा क्षेत्रवासियों के मंगलमय व खुशहाल जीवन की कामना की। उन्होंने कहा कि मेले हमारी प्राचीन समृद्ध संस्कृति व आपसी भाईचारे की एकता के प्रतीक हैं तथा इनको सहेज कर रखना हम सभी का नैतिक जिम्मेदारी है। क्षेत्र के विकास के बारे में बोलते हुए डा. सहजल ने कहा कि विकास की दृष्टि से देश व प्रदेश में स्वर्णिम काल चल रहा है तथा इस इलाके की सड़क स्वास्थ्य शिक्षा तथा अन्य सभी विकास से संबंधित मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गरौन घाटी से खोपर सरी तक की निर्माणाधीन सड़क का कार्य जल्द पूर्ण कर लिया जाएगा ताकि इस इलाके को यातायात संबंधी समस्या से निजात मिल सके। कार्यक्रम में निदेशक हिमफैड कपूर सिंह वर्मा तथा ग्राम पंचायत काबा कलां के उपप्रधान राजकुमार ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर निदेशक हिमफैड कपूर सिंह वर्मा, उपप्रधान काबा कलां राजकुमार, पूर्व प्रधान रमेश ठाकुर, लेखराज ठाकुर के अलावा अनिल गुप्ता, प्रकाश शर्मा, परशुराम, धर्मपाल, कुलदीप तथा तारा चंद सहित भारी संख्या में स्थानीय लोग भी उपस्थित  रहे।

You might also like