पर्यावरण सुरक्षा के लिए एकजुटता जरूरी

आईआईटी रोपड़ के कैंपस में राज्य स्तरीय समागम के दौरान बोले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह

चंडीगढ़ – पर्यावरण की रक्षा के लिए कड़ा रूख अपनाते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने हरेक नागरिक को साझे तौर पर प्रयास करने का न्योता दिया, जबकि इसके साथ ही उन्होंने प्रदूषण की रोकथाम के लिए पर्यावरण के मापदंडों के पालन के लिए उद्योग के साथ सख्ती से पेश आने की जरूरत पर जोर दिया। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर हुए राज्य स्तरीय समागम के दौरान संबोधन करते हुए सीएम ने पर्यावरण से संबंधित मसलों को हल करने के लिए गैर-राजनीतिक पहुंच अपनाने की महत्ता दिखाई, जिससे हमारी आने वाली पीढि़यों को टिकाऊ पर्यावरण मुहैया करवाया जा सके। यह राज्य स्तरीय समागम आईआईटी रोपड़ के कैंपस में हुआ और संस्था द्वारा इस अवसर पर एक प्रस्तुति भी दी गई। इस मौके पर आईआईटी के डायरैक्टर डा. एसके दास ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। बता दें कि पंजाब सरकार के अनूठे प्रोजेक्ट मिशन तंदुरुस्त पंजाब की भी पहली वर्षगांठ थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार नीतियां बनाकर उनको लागू कर सकती है, परंतु इसको वास्तविक रूप देने के लिए हरेक नागरिक द्वारा निजी यत्न किए जाने की जरूरत है और उद्योग द्वारा पर्यावरण नियमों का सख्ती से पालन करना भी उतनी ही महत्त्वपूर्ण है, ताकि स्थिरता के लक्ष्यों को हासिल किया जा सके। इस साल विश्व पर्यावरण के अवसर पर इत्तफाक से गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व का भी वर्ष है, जो पर्यावरण की रक्षा के लिए हमेशा लोगों को संदेश देते रहे हैं। इस साल के अंत में बूढ़े नाले की सफाई का प्रोजेक्ट आरंभ करने का ऐलान करते हुए सीएम ने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए हरेक व्यक्ति की जिम्मेदारी बनती है। इस मौके पर सीएम के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल के अलावा विधानसभा के स्पीकर राणा केपी सिंह, वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत, तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, उद्योग मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा, शहीद भगत सिंह नगर के विधायक अंगद सिंह, रोपड़ के विधायक अमरजीत, जिला कांग्रेस समिति रोपड़ के प्रधान बरिंदर सिंह भी मौजूद रहे।

You might also like