पहली बार बीएड में ऑनलाइन प्रवेश

छात्रों के लिए नजदीकी दस कालेजों की ऑप्शन; काउंसिलिंग के लिए बड़ी राहत, जुलाई से शुरुआत

शिमला -हिमाचल प्रदेश में बीएड करने वालों के छात्रों के लिए राहत भरी खबर है। अब छात्रों को बीएड की प्रवेश प्रक्रिया के लिए एचपीयू के चक्कर नहीं काटने पड़ेेंगे। एचपीयू ने बीएड दाखिले को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया है। इससे राज्य के लगभग 72 से ज्यादा निजी बीएड कालेज का नाम लिखकर छात्र अपने पसंद के कालेज में प्रवेश पा सकते हैं। एचपीयू ने पहली बार यह राहत बीएड के छात्रों को दी है। बता दें कि अब बीएड छात्रों की काउंसिलिंग भी ऑनलाइन होगी। मैरिट के हिसाब से छात्रों को उन्हें उनके पसंद का कालेज दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार प्रवेश फार्म में छात्र अपने नजदीकी दस कालेजों की ऑप्शन डाल सकता है। इससे एचपीयू को सीटों के हिसाब से छात्रों को कालेज भेजने में भी आसानी होगी। वहीं बीएड करने वाले छात्रों को भी बहुत दूर के कालेज नहीं जाना पड़ेगा। बता दें कि इससे पहले बीएड के लिए ऑनलाइन प्रवेश सुविधा ने होने की वजह से छात्रों को दूरदराज के कालेजों में भेज दिया जाता था, जिससे की कई बार नजदीकी स्टेशन न मिलने की वजह से बीएड इच्छुक छात्रों को अपना एक साल ड्रॉप करना पड़ता था। छात्रों की इस समस्या का समाधान करने के लिए ही एचपीयू ने बीएड की प्रवेश परीक्षा को पूरी तरह से ऑनलाइन किया है। बता दें कि एचपीयू ही हर साल प्रदेश के सभी निजी विश्वविद्यालयों के लिए बीएड की काउंसिलिंग परीक्षा करवाता रहा है। एचपीयू के अधिकारियों की मानें, तो जुलाई के बाद बीएड में प्रवेश पाने के लिए ऑनलाइन भुगतान करने के बाद स्वयं ही रसीद जनरेट एचपीयू की तरफ से हो जाएगी। बता दें कि एचपीयू ने बीएड की प्रवेश प्रक्रिया के साथ ही अन्य कार्यों को पहली जुलाई से ऑनलाइन करने की बात कही है। दरअसल एचपीयू को ऑनलाइन करने का सपना काफी पुराना है। ऐसा पहली बार हुआ है कि एचपीयू को ऑनलाइन करने मेें सफलता मिली है। एचपीयू का दावा तो यह भी है कि बहुत जल्द पूराने रिकार्ड को भी ऑनलाइन ही किया जाएगा।

You might also like