पहले किडनैपिंग, फिर किया मर्डर

चौपाल मामले में पीडि़त परिजनों ने जड़ा आरोप

चौपाल-शिमला के चौपाल में नाबालिग के अपहरण के बाद हत्या का मामला सामने आया है। परिजनों की  चौपाल पुलिस थाना में हमलावरों के खिलाफ हत्या की शिकायत की है। गौर हो कि ग्राम पंचायत जावग छामरोग से 17  वर्षीय नाबालिग का अपहरण हुआ।  इसके बाद वह   बेसुध अवस्था में मिली।  परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई।  जानकारी के अनुसार हिरा सिंह  निवासी  जावग ने कहा कि शुक्रवार दोपहर बाद वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पुलबाहल के शारीरिक शिक्षक का उसे फोन आया कि उनकी बेटी आंचल दोपहर बाद स्कूल से अनुपस्थित है। उसके पश्चात  वह लड़की को ढूंढते स्कूल पहुंचे, जहां उन्हें पता चला कि वह विक्रम नामक लड़के के साथ गाड़ी में ज्ञानकोट सोलन की तरफ गई है। जब परिजन  आगे निकले, तो उन्हें आंचल सड़क किनारे पड़ी मिली व उसके मुंह से झाग निकल रही थी।  परिजन उसे सिविल अस्पताल ठियोग ले गए,  जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।परिजनों ने पुलिस को अपने बयान में तीन युवकों वीर उर्फ विराट पुत्र कमान सिंह ग्राम लिहाट, विक्रम पुत्र करम सिंह ग्राम नागन तथा संजीव उर्फ़ सोनू पुत्र कल्याण सिंह निवासी जावग डाकघर पुलबाहल  तहसील चौपाल पर लड़की बहलाफुस्लाकर किडनैप करने का आरोप लगाया है। उधर एसएचओ चौपाल हरी सिंह ने कहा के अभियुक्त वीर, संजीव तथा विक्रम के खिलाफ भारतीय दंड सहिंता की धारा 306, 363, 366, 17 पोक्सो, 34 के तहत मामला दर्ज कर तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर चौपाल न्यायलय में पेश किया, जहां से उन्हें तीन दिन का पुलिस रिमांड मिला है। उन्होंने कहा के लड़की की लाश का पोस्टमार्टम  कर लाश परिजनों को सौंप दी गई है।  पुलिस मामले के हर पहलू की बारीकी से जांच कर रही है।

You might also like