पांच सौ स्कूलों को नोटिस

शिमला—शिमला जिला के सरकारी स्कूलों में टीचर डायरी मेंटेन न करने पर शिक्षा विभाग ने नोटिस जारी किए हैं। वहीं स्कूल प्रबंधन से दस दिनों में इस बारे में जवाब तलब किया है। बताया जा रहा है कि अभी केवल पांच सौ स्कूलों को ही रिमाइंडर जारी हुए हंै, लेकिन शिक्षा विभाग जिला के सभी स्कूलों को रिमाइंडर भेज रहा है। दरअसल समग्र शिक्षा के तहत सरकारी स्कूलों में छात्रों को टीचर डायरी दी गई थी। इस डायरी में छात्रों को क्या पढ़ाया गया, कितने टेस्ट लिए गए, व दूसरे दिन के लिए क्या कार्य दिया गया है, यह अपडेट करना था। हैरत है कि जिला के जिन स्कूलों ने टीचर डायरी शुरू की भी है, वे हफ्ते में केवल एक या दो बार ही उसमें छात्रों को दिए जाने वाले होमवर्क को अपडेट कर रहे हंै। वहीं, ज्यादातर स्कूलों ने तो टीचर डायरी को शुरू भी नहीं किया है। यह खुलासा जिला उच्च शिक्षा विभाग की टीम द्वारा तब हुआ जब वह फील्ड में उतरे। फिलहाल शिमला उच्च शिक्षा विभाग की उपनिदेशक ने स्कूल प्रबंधन को शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए इन निर्देशों को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए हंै। वहीं, दस दिनों के अंदर रिपोर्ट न भेजने पर स्कूल प्रबंधन व टीचर डायरी मेंटेन न करने पर कार्रवाई करने के भी आदेश हुए हैं। बता दें कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को शिक्षा विभाग ने टीचर डायरी उपलब्ध करवाई है। टीचर डायरी के साथ अब जल्द ही सरकारी स्कूलों में पहली बार छात्रों को निजी स्कूलों की तर्ज पर स्टूडेंट्स डायरी भी दी जाएगी। शिमला के वींटर स्कूलों में अगले सत्र से ही स्टूडेंट्स डायरी को मेंटेन करने के निर्देश दिए जाएंगे।

इसलिए जरूरी है टीचर डायरी…

छात्रों व टीचर डायरी शुरू करने का शिक्षा विभाग का यही मकसद था कि छात्रों के सिलेबस को करने संबधित सभी जानकारियां लिखित में हों। इससे सबसे बड़ा फायदा यह होना थी कि शिक्षक को भी यह समझने में आसानी होनी थी, कि अभी छात्रों ने कितना सिलेबस पूरा किया है, और कितना बचा है। बता दें कि इससे साल भर का टाइम टेबल शिक्षक बना सकते हंै। शिक्षा विभाग ने टीचर डायरी भी पिछले साल से शुरू की थी। डायरी में छात्रों को रोज होमवर्क और एसएमसी की बैठक के बारे में डायरी में बताने के निर्देश स्कूल प्रबंधन को देने होंगे। अभिभावाकों को डायरी के माध्यम से स्कूलों में छात्रों की पढ़ाई की अपडेट देनी होगी। इसके साथ ही पेंरेट्स मीटिंग के बारे में भी स्टूडेंट्स डायरी में नोट लिखकर बताना होगा।

You might also like