पाक नहीं, ईरान के रास्ते बिश्केक जाएंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली – शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शासनाध्यक्षों के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए किर्गीज गणराज्य की राजधानी बिश्केक जाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विमान पाकिस्तान के वायुक्षेत्र से होकर नहीं गुजरेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने श्री मोदी के विमान के मार्ग के बारे में बताया कि सरकार ने बिश्केक जाने के लिए प्रधानमंत्री के विमान के लिए दो मार्गों के विकल्पों को तलाशा था। उन्होंने कहा कि यह निर्णय लिया गया है कि प्रधानमंत्री का विमान ओमान, ईरान एवं मध्य एशियाई देशों के वायु क्षेत्र से गुजरता हुआ बिश्केक पहुंचेगा। श्री मोदी 13 और 14 जून को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के शासनाध्यक्षों की शिखर बैठक में भाग लेने के लिए बुधवार रात बिश्केक रवाना हुए हैं, जहां उनकी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठकें भी होंगी। दोनों दिन शिखर बैठक में भाग लेने के अलावा उनका किर्गीज गणराज्य में द्विपक्षीय यात्रा कार्यक्रम भी है। बिश्केक में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ औपचारिक या अनौपचारिक बैठक की संभावना के बारे में विदेश मंत्रालय ने साफ किया है कि श्री मोदी की पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से मुलाकात का कोई कार्यक्रम नहीं है। पाकिस्तान द्वारा अपनी हवाई क्षेत्र से उड़ान की इजाजत देने के बावजूद भारत द्वारा पीएम मोदी के लिए अलग रास्ता चुनने के पीछे मकसद यही था कि भारत आतंक के आका पाकिस्तान से फिलहाल कोई रिश्ता नहीं रखना चाहता।

You might also like