पीएनबी ने बांटा 1263 करोड़ का कर्ज

ऊना—जिला स्तरीय बैंक सलाहकार एवं समीक्षा बैठक बचत भवन ऊना में उपायुक्त संदीप कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में चौथी तिमाही की बैंकों द्वारा लक्ष्यों के बदले उपलब्धियों की समीक्षा की गई। पंजाब नेशनल बैंक हमीरपुर मंडल के सहमंडल प्रमुख प्रतीक श्रीवास्तव ने बताया कि जिला के बैंकों ने मार्च 2019 तक 1738 करोड़ के ऋणों के लक्ष्य के बदले 1263 करोड़ के ऋण वितरित किए। बैंकों की जमा राशि 8350.29 करोड़ हो गई है। इसमें 8.93 फीसदी वार्षिक दर से वृद्धि हुई है। जबकि ऋण 5.43 प्रतिशत की दर से बढ़कर 3216.18 करोड़ हो गया है। जिला का ऋण जमा अनुपात वर्ष में 38.37 फीसदी से बढ़कर 38.52 फीसदी हो गया है। जिला का सीडी अनुपात राष्ट्रीय लक्ष्य से 60 फीसदी की अपेक्षा कम है। बैंकों का सीडी अनुपात सुधारने हेतु बैंकों और सरकारी विभागों कों भरसक प्रयत्न करने चाहिए। जिला में बैंकों ने 31 मार्च 2019 तक 50957 कृषि कार्ड किसानों कों बांटे है। बैंकों का कृषि ऋण 625 करोड़ है जो कि कुल ऋणों का 49.48 फीसदी है। मंडल प्रमुख ने बैंकों से आग्रह किया कि जिला की जनता के जीवन स्तर कों सुधारने के लिए हर तरह की सहायता की जाए। बैंकों को किसानों की आय बढ़ाने के लिए आवश्यक ऋण वितरित करने चाहिए। मुख्य जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक ताजिंद्र पाल सिंह ने बैंकों से वार्षिक ऋण योजना के अंतर्गत निधारित लक्ष्यों को समय पर प्राप्त करने का आग्रह किया। ताकि लोगों की आर्थिक जरूरतों कों पूरा किया जा सके। जिला स्तरीय आरसेटी सलाहकार कमेटी की बैठक में निर्देशक राज कुमार डोगरा ने बताया कि इंस्टीट्यूट द्वारा चौथी तिमाही में 77 बेरोजगार युवक/युवतियों को विभिन व्यवसाओं हेतु प्रशिक्षण दिया गया। पूरे वित्त वर्ष में 625 के लक्ष्य के विरुद्ध 662 बेरोजगार युवक/युवतियों को विभिन व्यवसायों के लिए प्रशिक्षण दिया गया। बैठक में जिला परिषद अध्यक्षा सोमा देवी, पीएल नेगी मुख्य प्रबंधक स्टेट  बैंक ऑफ इंडिया, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र ऊना अंशुल धीमान, हरमेश राजपूत सहित अन्य मौजूद थे।

You might also like