पीडब्ल्यूडी ने इकट्ठा किया 85 किलो प्लास्टिक

बिलासपुर —पर्यावरण दिवस पर जिला में प्लास्टिक कचरा एकत्रित करने को लेकर शुरू किए गए अभियान के तहत लोक निर्माण विभाग बिलासपुर ने 85 किलो प्लास्टिक जमा किया है। इकट्ठा किए इस प्लास्टिक को अब शिमला भेजने की तैयारी है। शिमला में तारा देवी के एक सड़क मार्ग को प्लास्टिक के इस्तेमाल से प्लास्टिक रोड में तैयार किया जाना है। ऐसे में जमा प्लास्टिक को अब विभाग रोड में इस्तेमाल करेगा। लोक निर्माण विभाग बिलासपुर के अधीक्षण अभियंता ईं. अजय गुप्ता ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों द्वारा पीडब्ल्यूडी को सौंपे गए इस प्लास्टिक को शिमला भेजा जा रहा है। यह अभियान आगे भी निरंतर चलता रहेगा। हर माह जमा होने वाले प्लास्टिक को विभाग जरूरतानुसार चिन्हित क्षेत्रों में भेजता रहेगा। बहरहाल जानलेवा साबित हो रहा प्लास्टिक अब सड़क बनाने के काम आएगा। रोजाना निकलने वाले प्लास्टिक का इस्तेमाल सड़कों के निर्माण में किया जाएगा। ईं. अजय गुप्ता ने बताया कि प्लास्टिक से बनी सड़कें अपेक्षाकृत ज्यादा सुरक्षित होंगी। प्लास्टिक कचरे का इस्तेमाल करके बनाई जाने वाली सड़कें मानसून के दौरान टिकाऊ रहंेगी। बता दें कि प्लास्टिक वेस्ट में पोलीथिन, डिस्पोजेबल, चॉकलेट रैपर, पैकेज्ड फूड के रैपर आदि शामिल हैं। पर यह सभी गारबेज में मिला होता है जिस कारण यह अलग ही नहीं हो पाता। अभी इसमें से आधा गारबेज भी प्रोसेस नहीं हो पाता। उस कारण यह शहर के लिए बड़ी समस्या बनी हुई है।

ऐसे होगा प्लास्टिक का इस्तेमाल

वेस्ट प्लास्टिक को रिसाइकिल कर उसे ग्रेन्यूल्स में तबदील किया जाएगा। इस ग्रेन्यूल्स का इस्तेमाल ही सड़क निर्माण में होगा। ग्रेन्यूल्स को कोलतार के साथ मिलाकर सड़कों पर पत्थरों के ऊपर डाला जाएगा। उससे सड़कों की ऊपरी परत मजबूत तैयार होगी। इससे ट्रांसर्पोटेशन का खर्च भी बचेगा। कंस्ट्रक्शन के लिए मैटीरियल दूर से मंगवाना काफी हद तक कम हो जाएगा।

कचरे में अलग निकाली जा रही प्लास्टिक

नगर परिषद बिलासपुर ने गारबेज फ्री प्रोटोकॉल के तहत गीले और सूखे कचरे को अलग करने का अभियान शुरू किया है। इसमें गीले सूखे कचरे के साथ प्लास्टिक को अलग लिया जा रहा है। प्लास्टिक और गीले सूखे कचरे को अलग करने के लिए लोगों को जागरूक करने का अभियान भी चलाया जा रहा है।

You might also like