पूर्व सैनिकों को केंद्र में हो पुनर्वास मंत्रालय

पालमपुर—पूर्व सैनिक लीग पालमपुर की मासिक बैठक शनिवार को लीग अध्यक्ष सीडी सिंह गुलेरिया की अध्यक्षता में हुई। इसमें बड़ी संख्या में पूर्व सैनिकों, सैनिक परिवारों व वीर नारियों ने हिस्सा लिया। इसमें पूर्व सैनिकों ने अपनी समस्याएं सांझा कीं, वहीं इन्हें प्रस्ताव के माध्यम से समाधान के लिए संबंधित कार्यालयों में प्रेषित किया गया। लीग प्रवक्ता कुलदीप राणा ने बताया कि पूर्व सैनिक लीग की बैठक को संबोधित करते हुए अध्यक्ष सीडी सिंह गुलेरिया ने पूर्व सैनिकों व कार्यरत सैनिकों के लिए अलग से केंद्र सरकार में पुनर्वास मंत्रालय गठित करने की मांग उठाई। उन्होंने तर्क दिया कि सिविल सेवाओं में कार्यरत कर्मियों के सेवा नियम व शर्तें, सैन्य सेवाओं से अलग होने के कारण सैन्य वर्ग की कई समस्याएं अनसुनी रह जाती हैं। ऐसे में सैन्य समाज से संबंधित समस्याओं के लिए अलग कल्याण मंत्रालय का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अपने निर्णयों में भारत-पाक युद्ध व अन्य युद्धों में रिजर्व भेजे गए सैनिकों के लिए पेंशन व अन्य सुविधाओं की घोषणा की थी मगर अभी तक इसे अमलीजामा नहीं पहनाया गया है। बैठक में जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए सीएमओ कार्यालय में बार-बार चक्कर लगाने के बावजूद प्रमाण पत्र उपलब्ध न होने पर रोष जताते हुए पूर्व सैनिकों ने यह सुविधा संबंधित उपमंडल स्तर पर करने की मांग की। ताकि कर्मचारियों को बोझ कम हो वहीं लंबी दूरी में होने वाले खर्च से भी लोगों को निजात मिल सके। इस मौके पर मेजर प्यारे लाल, कै. प्रकाश चंद, प्रधान सिंह, कर्म चंद चौधरी, हरनाम सिंह गुलेरिया, रशम चंद, विहारी लाल, सूबेदार शेष राम शर्मा, केबीएल शर्मा, भूमि सिंह, जगरनाथ, मुंशी राम, राजिंद्र सिंह गुलेरिया, मिलाप चंद, ओंकार सिंह, अश्वनी व्यास, बलवान सिंह, अवतार सिंह, रवि सिंह पठानिया, ओंकार सिंह, करनैल सिंह, संतोष, हरि सिंह, भूरि सिंह व हुकुम आदि मौजूद रहे।

You might also like