पैराग्लाइडिंग-पर्वतारोहण संस्थान मंजूर

धर्मशाला स्मार्ट सिटी के प्रबंध निदेशक ने की वीडियो कान्फ्रेंसिंग

धर्मशाला —स्मार्ट सिटी धर्मशाला में पर्यटन उद्योग की संभावना को देखते हुए पर्वतारोहण व पैराग्लाइडिंग संस्थान के लिए भी स्वीकृति मिल गई है। यह जानकारी  स्मार्ट सिटी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप कदम  केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी को दी । केंद्रीय मंत्री वीडियो कान्फे्रंसिंग  के माध्यम से धर्मशाला स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। संदीप कदम ने बताया कि  स्मार्ट सिटी में जल्द ही 38 करोड़ के विकास कार्य शुरू होंगे, जिसमें सीवरेज और पेयजल योजना पर भी काम किया जाएगा। वहीं   पर्वतारोहण व पैराग्लाइडिंग संस्थान के लिए भी स्वीकृति मिल मिलने से  युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार के लिए पर्यटन उद्योग से जुड़ने का प्रशिक्षण प्राप्त करने का मौका मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि 324 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं के प्रस्ताव मंजूरी के लिए प्रदेश सरकार को भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि धर्मशाला को जुलाई 2016 में स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल किया गया है।  उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत धर्मशाला क्षेत्र में 33 करोड़ रुपए की लागत से विभिन्न विकास कार्यों को पूरा किया जा चुका है।, जिसमें 29 करोड़ की राशि पेयजल की बेहतर सुविधा पर खर्च की गई है। उन्होंने बताया कि 67 करोड़ रुपए के विकास कार्य प्रगति पर हैं, जिसके तहत धर्मशाला क्षेत्र के 10 स्कूलों में भी स्मार्ट क्लासरूम का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लगभग 38 करोड़ के विकास कार्य शीघ्र आरंभ होंगे। वीडियों कान्फ्रेंसिंग में जीएम पर्सनल विनय धीमान, जीएम टेक्नीकल राजीव शर्मा, एजीएम संजीवन धीमान सहित मुख्य वित्त अधिकारी जेएम अवस्थी उपस्थित रहे।

केंद्रीय मंत्री कर रहे समीक्षा

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के चार वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य पर केंद्रीय विकास मंत्रालय द्वारा सभी चयनित स्मार्ट शहरों में विकास कार्यों की प्रगति तथा प्रस्तावित योजनाओं के कार्यान्वयन पर विस्तार से चर्चा की जा रही । उन्होंने विकास कार्यों को समयबद्ध पूरा करने के लिए उचित कदम उठाने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

You might also like