प्रचंड गर्मी… दहके जंगल, पानी को त्राहि त्राहि

मंडी—गत सप्ताह प्रचंड गर्मी के चलते मंडी जिला तंदूर की तरह तप रहा है। हालात यह रहे कि तापमान का पारा करीब 42 डिग्री सेल्सियस से पार हो गया। इससे जहां बाजारों, गलियों में सन्नाटा सा हो गया। वहीं पंखे के नीचे भी लोगों का खूब पसीना छूटा। हालांकि शनिवार शाम को कुछ देर बारिश हुई। इसके चलते शाम के समय कुछ राहत मिली, जबकि प्रचंड गर्मी के चलते जिला के कुछ क्षेत्रों में पेयजल समस्या गंभीर बन गई है। कुछ क्षेत्रों में पेयजल सूख गए हैं। इससे लोगों को मीलों से पैदल चलकर पीने का पानी दूर-दूर से ढोना पड़ रहा है। वहीं गत सप्ताह स्कूली बच्चों को भी प्रचंड गर्मी के चलते दो-चार होना पड़ा। लगातार बढ़ रहे गर्मी के पारे ने लोगों की हाय-तौबा कर दी है।

जंगलों में आग का तांडव

गर्मी की तपिश बढ़ने के कारण अब जंगल भी दहकने लग गए हैं। गत सप्ताह सरकाघाट के कांगो का गलू जंगल में आग लग गई। इसके अलावा नाचन वन मंडल गोहर के अंतर्गत महिठाणा जंगल (खारसी बीट) में बुधवार को हुई भयंकर आगजनी की घटना से बाइक, स्कूटी समेत कई पक्षी जलकर राख हो गए। इस आगजनी की घटना से जहां एक ओर करीब सात हेक्टेयर जंगल में विभिन्न श्रेणी के हजारों पौधों को चपेट में लिया है। वहीं, दूसरी ओर साथ लगते प्लोटेशन रकबे में लगाए गए देवदार के लगभग पांच हजार पौधे भी आग की भेंट चढ़ गए हैं, जबकि जोगिंद्रनगर क्षेत्र में आगजनी के हुए दो हादसों में मधुमक्खियों की 100 पेटियां जलकर राख हो गईं।  द्रंग के सिउन जंगल आग की लपटों से घिर गया। ढाई हेक्टयर का वन भू भाग सूखी चलारू की पत्तियों के कारण कुछ ही मिनटों में राख हो गइर्ं।

घटनाओं का दौर जारी

मंडी जिला में घटनाओं का दौर जारी है। गत सप्ताह दो लोगांे के शव मिले हैं, जबकि चार लोग अलग-अलग घटनाओं में काल का ग्रास बने हैं। इसमें औट थाना के अंतर्गत बनाला के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर पड़ा मिला, जबकि उपमंडल सुंदरनगर की ग्राम पंचायत घीड़ी के टरू गांव में खड्ड में डूबने से 11 साल के बच्चे की मौत हो गई। वहीं, खूनी नहर के नाम से मशहूर भाखड़ा ब्यास प्रबंधक बोर्ड की बीएसएल नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली, जबकि मुरहाग पंचायत के अंतर्गत सकरन में एक व्यक्ति के ढांक से गिरकर मौत हो गई। इसके अलावा एक अन्य मामले में कुछ दिनों से लापता छात्र गांव 57 वर्षीय व्यक्ति का शव ब्यास नदी में बरामद किया गया, जबकि चंडीगढ़-मनाली पर सुंदरनगर में शुकदेव वाटिका के समीप एक मारुती ईको गाड़ी सड़क के किनारे खड़े ट्रक के पीछे जा घुसी। इस हादसे में पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए और एक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

स्कूलों में नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान

मंडी जिला के निजी व सरकारी स्कूलों में विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर बच्चों द्वारा जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। इसके उपरांत स्कूल परिसर में विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन किया। इस दौरान बच्चों ने नशे से दूर रहने के लिए प्रहार करते हुए जागरूक किया। इसके उपरांत विजेता बच्चों को मुख्यातिथि द्वारा सम्मानित किया गया।

शिक्षण संस्थान आग से सुरक्षा के करें पुख्ता प्रबंध

गत सप्ताह जिलाभर में संचालित कोचिंग, ट्यूशन केंद्रों व शिक्षण संस्थानों को अग्नि सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध के कड़े निर्देश दे दिए हैं, ताकि किसी प्रकार की अनहोनी पर तुरंत निपटा जा सके। लापरवाही पर संबंधित संस्थान के प्रबंधन उत्तरदायी होगा। इसके अलावा विभाग संस्थानों में अग्नि सुरक्षा को लेकर निरीक्षण भी करेगा।

मंडी में हेल्पलाइन नंबर

 उपायुक्त कार्यालय के लिए संपर्क नंबर-01905222355     व्हाट्स ऐप नंबर-7650025201   गुमशुदगी की शिकायत-9459100100 0 चाइल्ड हेल्पलाइन- 1098   गुडि़या हेल्पलाइन-1515   होशियार हेल्पलाइन-1090

नशे के सौदागरों के खिलाफ शिकंजा

पुलिस द्वारा नशे के कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई जारी है। गत सप्ताह जोगिंद्रनगर पुलिस ने एक नाके के दौरान एक कार में से छह किलो 342  ग्राम चरस व 413 ग्राम अफीम बरामद की है, जबकि मंडी और हमीरपुर जिला की सीमा पर स्थित भांबला में अवैध शराब की बड़ी खेप बरामद की। पुलिस ने नाके में करीब 150 पेटी शराब के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। शराब की कीमत करीब चार लाख रुपए है, जबकि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो टीम ने दो गाडि़यों से 19 किलो 350 ग्राम चरस पकड़ी।  जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 25 से 30 लाख रुपए के करीब है। 

डा. रशपाल कैंसर सर्जरी के सुपरस्पेशलिस्ट

कड़ी मेहनत व लग्न से सदैव मुकाम आसानी से हासिल किया जा सकता है, लेकिन लक्ष्य और लग्न का पूरा फोकस होना चाहिए। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है जिला मंडी से संबंध रखने वाले डा. रशपाल सिंह ठाकुर ने। डा. रशपाल हिमाचल प्रदेश के पहले ऑनकोसर्जन (कैंसर सर्जन) बन गए हैं। अखिल भातरीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्म) दिल्ली से डा. रशपाल ने एमसीएच सर्जिकल ऑकोलॉजी में पहला स्थान हासिल करने के साथ ही हिमाचल के पहले ऑनकोसर्जन का दर्जा हासिल कर लिया है। आसान भाषा में कहें तो डा. रशपालन कैंसर सर्जरी के सुपरस्पेशलिस्ट बन चुके हैं। डा. रशपाल सिंह पुत्र कैप्टन रोशन लाल सरकाघाट उपमंडल के रोपड़ी के रहने वाले हैं। उन्होंने 2016 में देश के प्रतिष्ठित संस्थान एम्स दिल्ली की एमसीएच सर्जिकल ऑनकोलॉजी की प्रवेश परीक्षा पास की थी और अब वह हिमाचल के पहले ऑनकोसर्जन बन चुके हैं।

पर्यटकों की रौनकें

पर्यटक मंडी जिला के विभिन्न क्षेत्रों में घूमने-फिरने का खूब आनंद उठा रहे हैं। इन दिनों मंडी जिला के बरोट, शिकारी देवी, जंजैहली, थुनाग, कमरुनाग, करसोग सहित अन्य पर्यटन स्थलों पर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र, चंडीगढ़ व पंजाब आदि मैदानी राज्यों से पर्यटक खूब आनंद उठा रहे हैं। सुप्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटक स्थल माता शिकारी व श्रीदेव कमरूनगा में हर रोज सैकड़ों पर्यटक पहुंच रहे हैं। प्रचंड गर्मी से राहत पाने के लिए सैलानियों व वीआईपीज ने अब ऐसे ऊंचाई वाले क्षेत्रों की ओर रुख करना आरंभ कर दिया है।

खबर का असर

गद्दीधार से लखरेहड़ देवगढ़ सड़क को पक्का करने का कार्य शुरू हो गया है। कुछ ही दिनों में यह सड़क यातायात के लिए चकाचक हो जाएगी। सड़क की खस्ताहालत को लेकर ‘दिव्य हिमाचल’ ने प्रमुखता से यह मुद्दा उठाया था। इसके अलावा बल्ह के टिक्कर कलां गांव में विद्युत बोर्ड ने ट्रांसफार्मर को चालू कर दिया है। आठ वर्ष पहले विद्युत बोर्ड ट्रांसफार्मर को चालू करना भूल गया था। ‘दिव्य हिमाचल’ ने मामला प्रमुखता से उठाया था।

धरना-प्रदर्शन किया

मंडी शहर में बीएड धारक युवाओं को जेबीटी भर्ती के लिए पात्र किए जाने के विरोध में जेबीटी प्रशिक्षुओं ने रोष निकाल कर प्रदर्शन किया। शहर में प्रदर्शन के बाद जेबीटी प्रशिक्षुओं ने उपायुक्त के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भी भेजा। प्रशिक्षुओं का एक ही उद्देश्य है कि बीएड डिग्री धारकों को जेबीटी में शामिल न किया जाए। इसके अलावा धर्मपुर के लंगेहड़ में शराब का ठेका खोलने के लेकर महिलाओं ने प्रदर्शन किया।

You might also like