प्रदेश में हर महीने 400 नए लघु उद्योग

अब तक 50 हजार से ज्यादा इदारों में चार लाख युवाओं को मिला रोजगार

पालमपुर -प्रदेश में पहली जनवरी से 30 अप्रैल, 2019 तक 1733 नए उद्योग स्थापित हुए, जिनमें 1580.40 करोड़ रुपए का निवेश हुआ और 18699 लोगों को रोजगार मिला। 1285.03 करोड़ रुपए की लागत से लगे 1688 लघु उद्योगों में 15335 और 295.37 करोड़ के निवेश से स्थापित मध्यम स्तर के 45 उद्योगों में 3364 लोगों को रोजगार मिला है। प्रदेश में स्थापित होने वाले उद्योगों की संख्या साल-दर-साल बढ़ रही है। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे बेरोजगारों के ग्राफ को कुछ कम करने में नए स्थापित हो रहे उद्योग भी रोल अदा कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार अब तक प्रदेश में स्थापित उद्योगों का आंकड़ा 50 हजार को पार कर चुका है, जिसमें चार लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिला। प्रदेश में अब तक स्थापित लघु, मध्यम व बड़े उद्यमों में 36223 करोड रुपए से अधिक का निवेश किया जा चुका है। जानकारी के अनुसार 30 अप्रैल, 2019 तक प्रदेश में स्थापित लघु उद्योगों का आंकड़ा 51168 तक पहुंच चुका है, जिनमें 426101 लोगों को रोजगार प्रदान किया जा चुका है। 50456 लघु उद्योगों में 21402.49 करोड़ रुपए का निवेश किया जा चुका है और इनमें 342115 लोगों को रोजगार मिला। 14831.10 करोड़ के निवेश से स्थापित किए जा चुके बड़े और मध्यम स्तर के 712 उद्योगों ने 83986 लोगों को रोजगार का अवसर प्रदान किया है।  गत साढ़े तीन साल में में प्रदेश में 10513 नए उद्योग स्थापित हुए हैं, जिनमें 17190.09 करोड़ रुपए का निवेश हुआ और 139172 लोगों को रोजगार मिला।

उद्योगों की संख्या में कांगड़ा नंबर वन

आंकड़े बताते हैं कि उद्योगों की संख्या के हिसाब से सबसे बड़ा जिला कांगड़ा नंबर एक पर है, जबकि उद्योगों में रोजगार देने में जिला सोलन सबसे आगे है। जिला कांगड़ा में अब तक स्थापित उद्योगों की संख्या 10475 है, जिनमें 911.34 करोड़ रुपए का निवेश किया गया। इन उद्योगों से 50697 लोगों को रोजगार मिला। वहीं सोलन में स्थापित उद्योगों का आंकड़ा 8357 है, जबकि इन उद्योगों में 174341 लोगों को रोजगार मिला। अधिकतर मध्यम स्तर के उद्योगों वाले जिला सोलन में उद्योगों में अब तक 19976.42 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है।

You might also like