प्रदेश सरकार ने हटाई जिला सिरमौर के सीडब्ल्यूसी की चेयर पर्सन

नाहन -हिमाचल प्रदेश सरकार ने सिरमौर जिला के बाल कल्याण कमेटी की चेयरमैन विजयश्री गौतम को पद से हटाने की अधिसूचना जारी की है। समाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से जारी इस अधिसूचना में चेयरमैन अपने कार्य में ढीला रवैया अपनाने और प्रशासन को संतोषजनक जवाब न दिए जाने की बात कही गई है। सामाजिक अधिकारिता विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव निशा सिंह इस आशय की  अधिसूचना जारी की  है। इसमें यह भी कहा गया है कि चेयरमैन अपने दायित्व को निभाने में असफल रही है। अधिसूचना में जुविनाइल जस्टिस  एक्ट 2005 के उल्लंघन की बात भी कही गई है। जानकारी के अनुसार सीडब्ल्यूसी की चेयरमैन विजयश्री गौतम से संबंधित मामले की शुरूआत छह नवंबर 2018 को उस समय हुई थी, जब एडीसी सिरमौर ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। दस दिसंबर 2018 को दिए गए जवाब से प्रशासन संतुष्ट नहीं हुआ। ऐसे में जांच बिठा कर 11 फरवरी 2019 को जांच अधिकारी ने सौंप दी। जांच में खुलासा हुआ कि चेयरपर्सन द्वारा कार्य को उचित तरीके से नहीं किया जा रहा। जांच में लापरवाही बरतने के अलावा मनमाने तरीके से कार्यालय को संचालित करने की बात कही गई। बताया जा रहा है कि  बाल कल्याण समिति के समक्ष 51 मामले लंबित हैं। सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना में यह कहा गया है कि ऐसा महसूस हुआ कि सीडब्ल्यूसी बच्चों के कल्याण को लेकर उदासीन रवैया अपनाए हुए है। यही कारण है कि बड़ी संख्या में मामले लंबित पड़े हुए हैं।

You might also like