प्रवास के साथ आ रहा अपराध

 देव गुलेरिया, योल

पिछले कुछ समय से हिमाचल में दुराचार, चोरी, नशाखोरी, अवैध खनन, भूमि अधिग्रहण  और सड़क हादसों में हुई वृद्धि अवश्य ही चिंताजनक है। प्रवासियों का यहां आना, जमीन खरीदकर यहीं निवास करने से हम क्यों अनभिज्ञ हैं? कुछ लोग चंद सिक्कों के लिए अपनी जमीन अनजाने लोगों को बेच रहे हैं, जो कानून के अनुसार मान्य नहीं है। यह समस्या कितनी जटिल हो सकती है, हम क्यों समझने में असमर्थ हैं? क्या हम बंगाल, असम की समस्या से अनजान है? अतः प्रशासन से अनुरोध है कि इस वजह से पैदा होने वाली समस्या को रोकने के लिए उचित कदम उठाए जाएं, ताकि यहां शांति बनी रहे।

 

You might also like