प्रसूति के 21 दिन तक पशु को खिलाएं दलिया

मेरी गाय की प्रसूति 3 दिन पहले हुई है। लोग कह रहे हैं कि उसे दाना व हरा चारा न खिलाया जाए। साथ ही उसके थन खाली करने से मना कर रहे हैं, क्या करें

— जीत, दौलतपुर

अभी आप अपने पशु को दलिया खिलाएं। इसमें तीन हिस्से अनाज, एक हिस्सा खल व एक हिस्सा चोकर मिलाएं। आजकल ठंड ज्यादा है तो आप इसमें गुड़ भी मिला सकते हैं। यह दलिया आप प्रसूति के 21 दिन बाद तक खिलाएं।

-साथ ही उसे हरा चारा व सूखा चारा मिलाकर खिलाएं। पेट के कीड़ों की दवाई दें।

-खनिज मिश्रण 50 ग्राम ताउम्र दें।

-इसके थनों से पूरा दूध निकालें अर्थात दूहते वक्त इसके थन खाली कर दें। अगर थनों में दूध  रह जाएगा तो आपके पशु को थनैला रोग हो सकता है।

मेरी साढ़े तीन साल की कट्टी है जिसका तीन बार कृत्रिम गर्भाधान व तीन बार प्राकृतिक गर्भाधान हो चुका है। परंतु वह गर्भ धारण नहीं कर रही है, क्या करें?

— रमेश, चंबा

आप अपने पशु की जांच पशु चिकित्सा अधिकारी से अतिशीघ्र करवाएं। आपका पशु हर महीने गरमाने के लक्षण देता है परंतु गर्भ नहीं धारण कर रहा है। यह मुख्यतः निम्न कारणों से होता है-

– पशु की बच्चेदानी में संक्रमण

– पशु के जननांगों की कमजोरी

– पशु की प्रजनन नली में वशांनुगत जन्म से होने वाला विकार।

2) अगर आपके पशु की बच्चेदानी में संक्रमण है तो वह मामूली है क्योंकि अगर वह ज्यादा होता तो आपका पशु गरमाने के लक्षण नहीं देता। ऐसी स्थिति में जब भी आपका पशु गरमाने के लक्षण दे तो आप उसके बच्चेदानी की दवाई से तीन दिन सफाई करवाएं।

अगर उसके जननांगों में कमजोरी है तो आप पेट के कीड़ों की दवाई दें।

– गोली वैटस क्यू-को 4 गोली प्रतिदिन खिलाएं।

– खनिज मिश्रण 30 ग्राम प्रतिदिन खिलाएं।

– पशु आहार एक किलो सुबह व एक किलो शाम को खिलाएं।

उपरोक्त इलाज डेढ़ महीने  तक लगातार करें।

3) अगर पशु की प्रजनन नली में वंशानुगत जन्म से होने वाला विकार है तो आपका पशु हर 20-21 दिन बाद गरमाने के लक्षण देगा व परीक्षण करने पर उसका नाड़ू भी ठीक होगा परंतु वह कभी गर्भ नहीं धारण करेगा। इस स्थिति में आप अपने पशु को चिकित्सा अधिकारी को दिखाकर अपने पशु का दूध कृत्रिम ढंग से उतरवा सकते हैं।

इसलिए आप अपनी कट्टी का इलाज अतिशीघ्र अपने निकटतम पशु चिकित्सा अधिकारी से करवाएं ताकि उसका ठीक इलाज हो जाए।

डा. मुकुल कायस्थ

वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी, उपमंडलीय पशु चिकित्सालय पद्धर(मंडी)

फोनः 94181-61948

नोट :  हेल्पलाइन में दिए गए उत्तर मात्र सलाह हैं।

Email: mukul_kaistha@yahoo.co.in

You might also like