फतेहपुर में चार हजार रिश्वत लेते धरा सुपरिंटेंडेंट 

फतेहपुर, जवाली, धर्मशाला – शिक्षा विभाग में सेवाएं देने वाले पूर्व प्रिंसीपल को उनकी सेवाओं का रुका हुआ एरियर देने के लिए शिक्षा विभाग के सुपरिंटेंडेंट ने चार हज़ार रुपए की रिश्वत ली है। विजिलेंस ब्यूरो ने जिला कांगड़ा के फतेहपुर एजुकेशन ब्लॉक के सुपरिंटेंडेंट को पूर्व प्रिंसीपल से चार हज़ार रुपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। अब विजिलेंस टीम द्वारा आरोपी को विशेष अदालत में पेश किया जाएगा।  मिली जानकारी के अनुसार जिला कांगड़ा के एजुकेशन ब्लॉक फतेहपुर के तहत पूर्व प्रिंसीपल ने विभाग से पेंडिंग एरियर लेना था। इसकी एवज में एजुकेशन सुपरिंटेंडेंट ने पूर्व प्रिंसीपल से चार हज़ार रुपए रिश्वत की मांग रखी थी। लंबे समय तक एरियर न मिलने से परेशान पूर्व प्रिंसीपल ने विजिलेंस ब्यूरो धर्मशाला में इस मामले की शिकायत की। इस आधार पर विजिलेंस थाना धर्मशाला के तहत टीम गठित करके जाल बिछाया गया, जिसके आधार पर शिक्षा विभाग का अधिकारी आरोपी रंगें हाथों चार हज़ार रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया। विजिलेंस थाना ने इस संबंध में आरोपी के खिलाफ यूएस सात पीसी एक्ट 1988 के तहत (संशोधित 2018) के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

You might also like