फिर बंद हुआ मनाली-लेह रोड

जिंगजिंगबार में भू-स्खलन ने जाम किया मार्ग, सैलानी परेशान

केलांग – मनाली-लेह मार्ग पर गाडि़यों की रफ्तार अब जिंजिंगबार में भू-स्खलन होने से रुक गई है। करीब 24 घंटे बाद बहाल हुए मनाली-लेह मार्ग पर जैसे ही गुरुवार सुबह गाडि़यों की आवाजाही शुरू हुई, वैसे ही जिंगजिंगबार में भू-स्खलन भी शुरू हो गया, जिस कारण एक बार फिर गाडि़यों की आवाजाही थम गई है। लेह की तरफ जाने वाली गाडि़यां जहां दरचा में रोक दी गई हैं, वहीं बीआरओ मार्ग बहाली में जुट गया है। जानकारी के अनुसार पिछले दो दिनों से जहां घाटी में खराब मौसम के चलते हल्का हिमपात हुआ है, वहीं गुरुवार को जिंगजिंगबार में भू-स्खलन होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। मनाली-लेह मार्ग पर जहां इस बार खराब मौसम लगातार कहर बरपा रहा है, वहीं सड़क के ठप होने से लाहुल-स्पीति का पर्यटन करोबार भी प्रभावित हो रहा है। लाहुल के पर्यटन करोबारियों का कहना है कि बीआरओ ने जहां पहले ही एक माह देरी से मनाली-लेह मार्ग बहाल किया है, वहीं अब खराब मौसम लोगों के लिए आफत बना हुआ है। गुरुवार को भी मनाली-लेह सड़क पर बाहनों की आवाजाही ठप होने से अधिकतर सैलानी जहां केलांग में रुके रहे, वहीं कुछ दारचा में रुकने को मजबूर हुए। प्रशासन का कहना है कि मनाली-लेह मार्ग पर जिंगजिंगबार के समीप भू-स्खलन होने से पहाड़ी से मलबा सड़क पर आ गया है। ऐसे में बीआरओ जहां सड़क की बहाली में जुट गया है, वहीं सैलानियों को सुरक्षित स्थलों पर ही रोका गया है। उल्लेखनीय है कि समर सीजन के दौरान लाहुल-स्पीति में पहुंचने वाले सैलानी जहां मनाली-लेह मार्ग पर सफर करने के लिए खासे उत्साहित रहते हैं, वहीं इस बार खराब मौसम सैलानियों की उम्मीदों पर पानी फेर रहा है। हालांकि बीआरओ के अधिकारियों का कहना है कि जिंगजिंगबार में हुए भू-स्खलन के मलबे को हटाने का काम शुरू कर दिया है। गुरुवार को लेह की तरफ केलांग से निकले वाहन जहां दोपहर बाद केलांग वापस लौट आए, वहीं कुछ वाहन दारचा में ही रुक गए हैं।

You might also like