फिर सामने आई मानवता को शर्मसार कर देने वाली तस्‍वीर, बेहतर जिंदगी की चाह में मिली मौत

नई दिल्‍ली – मैक्सिको बॉर्डर पर अमेरिकी फौज की तैनाती और शरणार्थियों के प्रति राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप समेत कई नेताओं का सख्‍त रवैया एक बार फिर से सवालों के घेरे में है। इसकी वजह बनी है एक दिल दहला देने वाली तस्‍वीर। यह तस्‍वीर एक पिता और उसकी दो वर्ष की बेटी की है जिनका शव अमेरिका-मैक्सिको बॉर्डर की रियो ग्रांडे नदी के किनारे पर मिला है। पिता का नाम ऑस्कर अल्बर्टो मार्टिनेज रमिरेज और बेटी का नाम वालेरिया बताया जा रहा है। मैक्सिको के एक अखबार ने इन दोनों के शवों की फोटो जारी की है। यह अल सल्‍वाडोर के बताए जा रहे हैं। इस तस्‍वीर ने शरणार्थियों पर विश्‍व की चिंता को जगजाहिर कर दिया है। इसके साथ ही इस तस्‍वीर ने तीन साल के एलन कुर्दी की भी याद को ताजा कर दिया है, जिसका शव 2015 में तुर्की के समुद्री किनारे पर मिला था। इस तस्‍वीर के सामने आने के बाद पूरी दुनिया से शरणार्थियों के प्रति नरम रुख बरतने की अपील की गई थी। संयुक्‍त राष्‍ट्र में भी इसकी गूंज सुनाई दी थी। ऐसा ही इस बार देखा जा रहा है।  इसी नदी के किनारे पर यूएस बॉर्डर पेट्रोल को दो दिन पहले भी चार शव मिले थे। इनमें से तीन बच्‍चों के शव थे जबकि एक 20 वर्षीय महिला का था। शरणार्थियों पर कड़े रवैये की बात करें तो 25 जून को ही मैक्सिको पुलिस ने अल सल्वा‍डोर की 19 वर्षीय ग्रेजुएट महिला मारिया को गोली मार दी थी। वह भी इस रास्ते अमेरिका जाने की कोशिश कर रही थी।  

You might also like