बंधक बना पूरी रात बेरहमी से पीटा युवक

पुलिस पर लगाया केस कमजोर करने का आरोप, मानव अधिकार आयोग से लेकर डीआईजी को भेजी शिकायत

सरकाघाट -सरकाघाट के एक युवक को करीब चार युवकों द्वारा बंधक बनाकर पूरी रात कार में बेरहमी से मारपीट करने का मामला सामने आया है। हैरानी इस बात की है कि मारुति कार में चार नशेड़ी युवक एक युवक की न सिर्फ बेरहमी से पिटाई करते रहे, बल्कि चिल्लाने की आवाज कार के स्पीकर की साउंड ऊंची करके दबा दी गई। यही नहीं, कार पूरी रात सरकाघाट बरच्छवाड़ से पौंटा  तक 15 किमी घूमती रही, परंतु फिर भी पुलिस को नजर नहीं आई। युवक द्वारा जब मामले की एफआईआर थाने में दर्ज कराई गई तो पुलिस ने अपनी मर्जी से वह भी बदल डाली स ये तमाम आरोप लगाए हैं ग्राम पंचायत नबाही की चमयानु गांव के युवक विनीत कुमार पुत्र जगदीश चंद ने। उसने पुलिस में दर्ज एफआइआर में कहा कि वह पहली जून की रात को अपने दोस्त रवि कुमार राठौर की शादी में टांगरी गांव गया था। वापसी में करीब रात 11ः00 बजे जब वह अपनी बाइक निकालने लगा तो उसी जगह बरच्छवाड़ गांव के कुछ युवक कार में बैठ कर शराब पी रहे थे, जब वह अपनी बाइक पार्किंग से निकालने लगा तो इन युवकों ने उससे धक्का-मुक्की शुरू कर दी। उसने उन्हें रोकने की कोशिश की तो इन युवकों ने उसके कपड़े फाड़ डाले व जान से मारने की कोशिश की तथा उसे जबरन मारुति कार, जिसका नंबर पीबी से शुरू होता है, में बंधक बनाकर अंदर डाल दिया। इसके बाद उसे इधर-उधर पूरी रात घुमाया और बेरहमी से मारपीट करते रहे। सुबह उसे ये लोग अपने घर से 100 मीटर दूर फेंक कर चले गए। डीएसपी सरकाघाट चंद्रपाल सिंह ने कहा कि शिकायत उन्हें मिल चुकी है। पीडि़त युवक का मेडिकल करवा लिया है। इस सारे  केस को वह खुद देख रहे हैं। पुलिस की भूमिका की भी निष्पक्ष जांच की जाएगी, जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

You might also like