बच्ची की निर्मम हत्या पर देशभर में उबाल

अलीगढ़ -अलीगढ़ के टप्पल में अढ़ाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या से देशभर में गुस्सा है। हर कोई दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग कर रहा है। इस बीच, यूपी पुलिस ने मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच टीम गठित कर दी है। वहीं, परिवार ने दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की है। बच्ची की मां का कहना है कि कठोर कार्रवाई न होने से दोषियों के इरादे मजबूत होंगे। एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार ने बताया कि 30 मई को घटना हुई और 31 को एफआईआर दर्ज की गई। दो लोगों को दबिश देकर पुलिस ने गिरफ्तार किया। मृतक बच्ची के शव से लिए गए नमूने फारेंसिक लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं। एसपी ग्रामीण की अध्यक्षता में मामले की जांच के लिए एसआईटी बनाई गई है। इसमें फरेंसिक साइंस टीम, स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) और विशेषज्ञों की टीम फास्ट ट्रैक आधार पर जांच करेगी। आनंद कुमार ने मीडिया को बताया कि मामले में पॉक्सो एक्ट लगाया गया है और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी। फरार आरोपी की जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी। हम प्राथमिकता के आधार पर मामले को देख रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने बच्ची की हत्या के दो आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत मामला दर्ज कर मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित करवाने का फैसला किया है। ्रसरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह निर्णय योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा लिया गया है। लड़की की हत्या के आरोप में दो व्यक्तियों- जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया गया है। जाहिद ने कथित रूप से लड़की को मार डाला, जबकि अन्य आरोपियों ने अपराध करने में उसकी मदद की। वहीं, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने तीन साल की बच्ची की हत्या के मामले में अलीगढ़ के एसएसपी से जांच रिपोर्ट मांगी है।

10 हजार रुपए के लिए कत्ल

आरोपियों ने बच्ची की गला दबाकर हत्या कर की और उसकी आंखें भी फोड़ दीं। आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। उनका कहना है कि लड़की के पिता ने जाहिद से 10 हजार रुपए लिए थे, लेकिन रुपए नहीं लौटाए।

तड़पा-तड़पा कर मारी थी मासूम

किसी मासूम के साथ कोई इतनी हैवानियत कैसे कर सकता है। टप्पल में मारी गई ढाई साल की बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखने के बाद रोंगटें खड़े हो जाते हैं। मन कांप जाता है, दिल दहल जाता और दिमाग सुन्न हो जाता है। दरिंदगी की इंतहा हो गई। बच्ची की किडनी तक दरिंदों ने निकाल ली। एक हाथ भी शरीर से अलग कर दिया। मासूम को दरिंदों ने इस कद्र मारा कि उसकी नेजल ब्रिज (नाक व माथे को जोड़ने वाली हड्डी) और एक पैर में फ्रेक्चर तक हो गया। जिसके चलते बच्ची की मौत शॉक (सदमा) की वजह से होना पीएम रिपोर्ट में आया है। इसकी पुष्टि सीएमओ डा. एमएल अग्रवाल ने की।

 

You might also like