बच्‍चे की मौत से बिखरा अर्जुन का परिवार

20 साल बाद हुई थी संतान की प्राप्ति, वर्षों से संजोय सारे सपने पल भर में चकनाचूर

चुवाड़ी—उपमंडल के कलम खड्ड में सात वर्षीय बच्चे के डूबने की घटना ने तुरकड़ा पंचायत के कुलेरा गांव में शोक की लहर दौड़ गई। पल भर में ही अर्जुन का परिवार बिखर गया।  अर्जुन को शादी के 20 साल बाद संत्तान की प्राप्ति हुई थी।   अर्जुन  ने अपने इकलौते बेटे के सुनहरे भविष्य को लेकर कई सपने संजोए हुए था। मगर शनिवार को मासूम के खड्ड में डूबने से सारे सपने चकनाचूर हो गए।  शनिवार को अपने इकलौते बेटे के कलम खड्ड में डूबने की सूचना पाते ही अर्जुन अपनी पत्नी संग बेसुध होकर दौड़ा चला आया। मगर अस्पताल में इकलौते बेटे की सफेद कफन से लिपटी लाश को देखकर मां-बाप गश खाकर जमीन पर गिर पड़े। दोनों का रो- रो कर बुरा हाल है।  दर्दनाक घटना की सूचना पाते ही अस्पताल पहंुचे हर व्यक्ति की आंख नम दिखी। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि अर्जुन को शादी के 20 साल बाद संतान सुख हासिल हुआ था। औलाद के तौर पर विश्व को पाकर अर्जुन का परिवार काफी खुश था। मगर शनिवार को विश्व की मौत ने पल भर में ही अर्जुन की सारी खुशियों को सदा के लिए समाप्त कर दिया है। दोपहर बाद  पोस्टमार्टम करवाकर  शव परिजनों को सौंप दिया गया है।  बतातें चलें कि शनिवार को कलम खड्ड में डूबने से अर्जुन के सात वर्षीय इकलौते बेटे की मौत हो गई। 

You might also like