बढ़ते नशे को रोकेगी खट्टर सरकार

कल ड्रग्स के खात्मे को एकजुट होंगे सात राज्यों के पुलिस प्रमुख, बनाएंगे रणनीति

पंचकूला –हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की पहल पर हरियाणा पुलिस द्वारा एक बार फिर सात उत्तरी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस प्रमुखों को 26 जून को एक मंच पर लाया जाएगा, ताकि मादक पदार्थों के दुरुपयोग एवं अवैध तस्करी के खिलाफ  एकजुट होकर प्रभावी रणनीति तैयार की जा सके। उल्लेखनीय है कि 26 जून का दिन मादक पदार्थों के दुरुपयोग एवं अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 26 जून, 2019 को चंडीगढ़ में उत्तरी राज्यों के पुलिस महानिदेशकों की होने वाली एक समन्वय बैठक में मादक पदार्थों के दुरुपयोग एवं अवैध तस्करी की चुनौतियों पर चर्चा कर उस पर अंकुश लगाने के लिए कारगर रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल मुख्य अतिथि होंगे, जो समापन सत्र के दौरान प्रतिभागियों को संबोधित करेंगे। इस दौरान मुख्य सचिव डीएस ढेसी, अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह डा. एसएस प्रसाद और नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो, नई दिल्ली के अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा इस बैठक में पंजाब, राजस्थान, हिमाचल, जम्मू और कश्मीर, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस प्रमुख भाग लेंगे। इससे पहले भी मुख्यमंत्री की पहल पर नशाखोरी से प्रभावी ढंग से निपटने व अंकुश लगाने के लिए उत्तरी राज्यों के सीएम व अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक 20 अगस्त, 2018 को आयोजित की जा चुकी है। हरियाणा पुलिस महानिदेशक द्वारा अपने समकक्ष अधिकारियो के साथ तैयार किए गए एंजेडा का जिक्र करते हुए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि बैठक के आयोजन का मुख्य उद्देश्य उत्तरी क्षेत्र में सक्रिय संगठित गिरोह और तस्करी नेटवर्क की गतिविधियों से निपटने के लिए क्षेत्र के पुलिस बलों के बीच आवश्यक तालमेल कर आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाना है। उन्होंने कहा कि उत्तरी राज्यों के साथ चर्चा किए जाने वाले अन्य प्रमुख विषयों में उत्तरी क्षेत्र में नशा परिदृश्य का अवलोकन ,एनडीपीएस अधिनियम के प्रावधानों का प्रभावी प्रवर्तन शामिल है।

You might also like