बदन झुलसाती गर्मी में नहीं डोली भक्ति

नयनादेवी—विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीनयनादेवी में इन दिनों प्रचंड गर्मी का एहसास हो रहा है। प्रदेश के इस पहाड़ी तीर्थस्थल पर भी पारा 39 डिग्री के करीब पहुंच चुका है। एक तरफ प्रचंड गर्मी का एहसास और दूसरी तरफ  से श्रद्धालुओं की भरमार है। काफी संख्या में श्रद्धालु आजकल इस धार्मिक स्थल पर पहुंच रहे हैं। पंजाब, हिमाचल, हरियाणा, दिल्ली, यूपी, राजस्थान, बिहार और अन्य प्रदेशों से श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है, लेकिन दोपहर के समय माता जी के दर्शन करना काफी कठिन हो रहा है। श्रद्धालुओं के लिए हालांकि मंदिर न्यास ने पुख्ता व्यवस्था की है। गर्मी के दिनों में श्रद्धालुओं को मंदिर के अंदर किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसका पूरा ध्यान रखा गया है। हालांकि श्रद्धालु नंगे पांव माताजी के मंदिर में प्रवेश करते हैं। इसलिए उनके पांव को किसी तरह की तपिश न लगे, इसके लिए मंदिर के अंदर फु ट मैट बिछाए गए हैं और जगह-जगह पर पंखे व कूलर लगाए गए हैं, ताकि श्रद्धालुओं को आराम से मां के दर्शन कर सकें। इसके अलावा पीने के पानी के लिए कूलर मंदिर के समीप लगाए गए हैं और श्रद्धालु काफ ी राहत भी महसूस कर रहे हैं। मंदिर न्यास के अधीक्षक तुलसी राम और रामकृष्ण शर्मा के निर्देशों के अनुसार मंदिर परिसर में छायादान लगा दिए गए थे और श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु ठंडे पानी की व्यवस्था की गई थी। हालांकि अभी गर्मी शुरू हुई है और तेज गर्मी के दिनों में मंदिर न्यास पूरी तरह से श्रद्धालुओं को सुविधाएं प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है। मंदिर अधिकारी दुर्गादास भी स्वयं मंदिर न्यास की व्यवस्थाओं का समय-समय पर निरीक्षण करते रहते हैं। यूपी से आए श्रद्धालु अमित कुमार ने बताया कि हालांकि यहां गर्मी काफी है। उन्हें ऐसा एहसास नहीं था कि पहाड़ी तीर्थ स्थलों पर इस प्रकार की गर्मी होगी, लेकिन गर्मी है तो गर्मी से बचने की व्यवस्था भी मंदिर कमेटी ने की है।  पंजाब से महिला श्रद्धालु प्रीत कौर का कहना है कि उन्हें भी मंदिर में काफ ी गर्मी महसूस हुई, लेकिन जगह-जगह फुट मैट बिछाए गए हैं, जिससे बच्चों और बुजुर्गों को मंदिर दर्शन करने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।

 

You might also like