बरसात की आहट से थम गया रोड

नगरोटा बगवां—लोक निर्माण विभाग के मंडल टांडा के अंतर्गत आने वाले सरोत्री-दौलतपुर रोड ने बरसात की आहट मात्र से ही वाहनों का रास्ता रोक कर यह साफ संदेश दे दिया है कि आगे-आगे देखो होता है क्या । इसे विभागीय उदासीनता न कहें तो और क्या कहें  कि चंगर क्षेत्र के व्यस्ततम सरोत्रि-दौलतपुर सड़क पर वार्डी नामक स्थान पर चल रहा विभाग का डंगे का काम खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा जबकि हर बरसात में होने वाला भू-स्खलन आम लोगों का रास्ता रोक कर विभाग को जगाने की लगातार कोशिश करता आ रहा है। सोमवार को नाम मात्र की बारिश में इसी स्थान पर गाडि़यों के पहिए जाम हो गए। नतीजन मंगलवार को भी लोग अपने गंतव्य पर समय पर नहीं पहुंच पाए । यहां तक की स्कूली बच्चे भी अपनी गाडि़यों सहित फंसे रहे । लोग यह सोच कर सकते में हैं कि आगे बरसात में उनका क्या होगा । हालांकि विभाग ने ‘दिव्य हिमाचल’ को प्रतिक्रिया देते हुए रास्ता बहाली के लिए विभागीय कर्मचारी तथा मशीनरी भेजने की बात कही, लेकिन हर साल की समस्या से लोगों को निजात दिलाने हेतु विभागीय प्रयास आज भी नाकाफी दिखाई दिए । हैरानी की बात यह है कि जहां एक और विभाग के ही एक आलाधिकारी उक्त सड़क के वजूद तथा सड़क पर चल रहे निर्माण कार्य से बिलकुल अनभिज्ञ दिखे, वहीं उनके नीचे के अधिकारी  बार-बार होने वाले भू-स्खलन को सड़क की खराबी तथा काम में बाधा का कारण बता रहे हैं । स्थानीय लोगों का कहना है कि विभाग ने दो साल पहले इस स्थान पर हुए भू-स्खलन के बाद क्षतिग्रस्त हिस्से में कोलतार के ड्रम लगाकर आवाजाही की अस्थायी व्यवस्था की थी जिस के बाद इसकी कोई सुध नहीं ली । हालांकि कुछ समय पहले उक्त सड़क को बाकायदा कोलतार से काला भी किया गया, लेकिन परेशानी का सबब बने ब्लैक स्पॉट को तब भी उसी के हाल पर छोड़ दिया गया । लोगों तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों का कहना है कि वे बार-बार रोड बंदी तथा दुर्घटना सम्भावित स्पॉट की मरम्मत के लिए कई बार अधिकारियों के सामने फरियाद लगा चुके हैं, लेकिन कोई हल नहीं निकाला जा रहा। उधर, लोक निर्माण विभाग के उपमंडलीय अधिकारी अंकित कुमार ने शीघ्र मरम्मत का भरोसा दिलाया है।

You might also like