बागबानों को मालामाल करेगा सेब

शिमला —जिला शिमला में इस सेब सीजन के दौरान बीते कुछ वर्षों का रिकार्ड तोड़ उत्पादन होने की संभावना जताई जा रही है। बागबानी विभाग ने जिला शिमला में इस साल दो करोड़ से अधिक सेब बाक्ॅस होने का आकलन लगाया है। बागबानी विभाग का आकलन यदि सटीक रहता है, तो जिला शिमला में इस सेब सीजन के दौरान बीते एक दो वर्षों का रिकार्ड तोड़ उत्पादन होगा, जो बागबानों की आर्थिकी के लिए राहत भरी खबर है। जिला शिमला में बीते सेब सीजन के दौरान मौसम के कहर के चलते सेब का कम कारोबार हुआ था। तूफान व ओलावृष्टि के कारण शिमला जिला में एक करोड़ से अधिक का उत्पादन हुआ था। जिला शिमला में बीते सेब सीजन के दौैरान एक करोड़ 25 लाख के करीब सेब बॉक्स का उत्पादन हुआ था। हालांकि जिला शिमला में इस बार भी मौसम से सेब को नुकसान पहुंचा है। जिला शिमला के कई स्थानों पर ओलावृष्टि ने सेब की पूरी फसल तबाह कर दी थी, मगर इसके बाबजूद जिला शिमला में बागबानी विभाग द्वारा रिकार्ड तोड़ उत्पादन की सभावनाएं जताई जा रही हैं। बागबानी विभाग ने जिला शिमला में दो करोड़ 69 लाख सेब बॉक्स के उत्पादन का आकलन लगाया था। मौजूदा समय जिला शिमला में गर्मी कहर बरपाने लगी है। प्रचंड गर्मी के चलते शिमला में जून माह के दौरान सेब के पौधों में ड्रापिंग होने की सभावनाएं जताई जा रही हैं, मगर जिला शिमला में जून ड्रापिंग के बाबजूद ज्यादा फसल होन की उम्मीदें लगाई जा रही हैं। जिला शिमला के कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों से अर्ली वैरायटी का सेब जून माह के आखिर तक  मार्केट में उतरना शुरू हो जाता है। इसके पश्चात जिला शिमला के सेब उत्पादक क्षेत्रों से रॉयल सहित गोल्डन सेब का अराइवल शुरू हो जाता है। शिमला में बीते सेब सीजन के दौरान भी काफी समय तक सेब चला था। ऐसे में इस सेब सीजन के दौरान अधिक फसल होने के कारण सेब सीजन लंबा चलने की उम्मीदें लगाई जा रही हैं।

You might also like