बारिश-बर्फबारी से 39 करोड़ की चपत

मंडी—मंडी जिला में इस बार सर्दियों के दौरान भारी बर्फ बारी, बारिश तथा प्राकृतिक आपदाओं से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए चार सदस्यीय अंतर मंत्रालयी केंद्रीय दल शुक्रवार को जिला के दौरे पर रहा। इस दौरान गृृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव एवं दल के अध्यक्ष केबी सिंह के नेतृत्व में अन्य सदस्यों, केंद्रीय जल आयोग के निदेशक ओपी गुप्ता, विद्युत विभाग के उपनिदेशक ओपी सुमन और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग के क्षेत्रीय अधिकारी विपनेश शर्मा ने उपायुक्त कार्यालय मंडी के वीडियो कान्फ्रेंस कक्ष में जिला प्रशासन व विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने दल को जिला में हुए नुकसान का विस्तृत ब्यौरा दिया। अतिरिक्त उपायुक्त ने अवगत करवाया कि सर्दियों के दौरान भारी बर्फबारी, बारिश तथा प्राकृतिक आपदाओं से जिला में करीब 39 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, विद्युत, वन, कृषि तथा बागवानी विभाग के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से अपने-अपने विभाग से संबंधित जिलाभर में हुए नुकसान की विस्तार से जानकारी उपलब्ध करवाई। लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि सर्दियों में बर्फबारी व बारिश से विभाग को जिलाभर में 26.30 करोड़ का नुकसान हुआ है । इस दौरान अनेक सड़कें टूट गईं, रिटेनिंग वॉल, छोटे-बड़े पुल सहित बहुत सी अन्य योजनाएं क्षतिग्रस्त हुईं। सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि जिला में 7.42 करोड रुपए की 445 छोटी-बड़ी पेयजल व सिंचाई योजनाओं को बर्फबारी तथा प्राकृतिक आपदाओं से  नुकसान हुआ है। विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि जिला में 106 किलोमीटर एचटी लाइन तथा 173 किलोमीटर एलटी लाइनें, जिसमें सब-स्टेशन, खंभों, तार को सर्दियों में बर्फबारी तथा प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान हुआ है, जिसकी लागत 2.87 करोड़ रुपए आंकी गई है । इसके अलावा राजस्व विभाग को करीब 2.40 करोड़ का नुकसान हुआ है। इसके अतिरिक्त कृृषि तथा बागबानी क्षेत्र में, जंगलों, पंचायत क्षेत्रों की छोटी-छोटी सड़कांे, रास्तों, भवनों तथा पुराने पेयजल स्रोतों को भी बर्फबारी तथा प्राकृतिक आपदाओं से काफी नुकसान हुआ है। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्रवण मांटा, जिला राजस्व अधिकारी राजीव संख्यान सहित समस्त विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

You might also like