बिकने वाला है कमलिस्तान स्टूडियो

कई ब्लॉकस्टार फिल्में देने वाला कमाल अमरोही स्टूडियो अब इतिहास बनने की कगार पर है। डीबी रीयल्टी और बेंगलुरू की कंपनी आरएमजेड कॉर्प मिलकर इस जगह पर देश का सबसे बड़ा कॉर्पोरेट कार्यालय पार्क स्थापित करने पर सहमत हैं। इस स्टूडियो को कमलिस्तान स्टूडियो के नाम से भी जाना जाता है। आरके स्टूडियो के बाद वाणिज्यिक संपत्ति में परिवर्तित होने वाला कमलिस्तान दूसरा प्रतिष्ठित स्टूडियो होगा। डीबी रीयल्टी ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि कमलिस्तान के प्रोडेक्शन हाउस महल पिक्चर्स ने जोगेश्वरी- विकरौल लिंक रोड से लगती हुई जमीन को विकसित और बेचने के लिए आरएमजेड समूह के साथ सैद्धांतिक समझौता किया है। शेयर बाजार को दी जानकारी में वित्तीय जानकारियां या विकास योजनाओं के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक , परियोजना में आरएमजेड को इसमें 55 प्रतिशत हिस्सेदारी मिलेगी जबकि बाकी हिस्सेदारी डीबी रीयल्टी और अविनाश भोसले समूह की होगी। फिल्मनिर्माता कमाल अमरोही ने 1958 में इस स्टूडियो की स्थापना की थी और कई मशहूर फिल्मों महल (1949), पाकीजा (1972) और रजिया सुल्तान (1983), अमर अकबर एंथनी और कालिया इसी स्टूडियो में शूट किया गया था।

You might also like