बिलासपुर में कुष्ठ रोगी होंगे आइडेंटिफाई

बिलासपुर—राष्ट्रीय कुष्ठ रोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत जिला बिलासपुर मंे सक्रिय कुष्ठ रोगियों की पहचान के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के निर्देशानुसार विशेष अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान 15 से लेकर 30 जून 2019 तक प्रदेश के सभी जिलों में चलाया जाएगा। बिलासपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाश दड़ोच ने यह खुलासा किया है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि इस अभियान का उद्देश्य इस रोग को प्रदेश स्तर तथा जिला स्तर पर समाप्त करना है तथा प्रदेश से लेकर जिला के गांव गांव को कुष्ठ रोग मुक्त बनाना है। इस अभियान के तहत जिला समन्वय समिति का गठन किया गया है तथा खंड स्तर इन रोगियों की पहचान करने के लिए जांच दल का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि दल के सदस्य उस क्षेत्र और गांव मे घर घर जाकर सभी सदस्यों की जांच करेंगे। यदि वहां इस रोग के लक्षणों वाला व्यक्ति पाया जाता है तो चिकित्सा अधिकारी और चर्म रोग विशेषज्ञ की देख रेख मंे उसका उपचार शुरू किया जाएगा जिससे हम अपने परिवार, समाज, जिला को इस रोग से मुक्ति दिला सकते हैं। यही नहीं, प्रदेश को 2021 तक कुष्ठ रोग मुक्त संकल्प को साकार कर पाएंगे। सीएमओ के अनुसार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा इस रोग के प्रति जागरूकता प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य शिक्षक उन क्षेत्रों मे बीमारी के बारे मे बताएंगे ओर जागरूकता सामग्री वितरित करेंगे। इस कार्यक्रम के तहत सभी जांच दलों को जिला स्तर पर 11 व 12 जून को खंडस्तर पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि वे इस अभियान में भाग लें और इस रोग के प्रति जागरूक होकर दूसरों को भी जागरूक करें। जनता का सहयोग ही हम सभी प्रदेश तथ जिला को कुष्ठ रोग मुक्त बनाने मे अहम भूमिका निभा सकती है। वहीं, सीएमओ बिलासपुर डा. प्रकाश दड़ोच कुष्ठ रोग के खात्मे के लिए 15 जून से लेकर 30 जून तक प्रदेश के सभी जिलों में अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत जिला समन्वय समिति का गठन किया गया है तथा खंड स्तर इन रोगियों की पहचान करने के लिए जांच दल का गठन किया गया है। दल के सदस्य उस क्षेत्र और गांव मे घर घर जाकर सभी सदस्यों की जांच करेंगे।

You might also like