बिलासपुर में डाक्टरों ने लगाए काले बिल्ले

मेडिकल आफिसर्ज संघ ने सीएम से उठाई बीएमओ घुमारवीं के निलंबन की निष्पक्ष जांच की मांग

बिलासपुर—बीएमओ घुमारवीं का निलंबन न सिर्फ एक तरफ कार्रवाई है, बल्कि इससे सरकार की तानाशाही काफी पता चलता है। यह बात सोमवार को बिलासपुर में आयोजित हिमाचल प्रदेश मेडिकल आफिसर्ज एसोशिएशन बिलासपुर इकाई के अध्यक्ष डा. सतीश शर्मा व महासचिव डा. विजय राय ने कही। उन्होंने कहा कि 24 घंटे के भीतर निलंबन के आदेश शिकायतकर्ताओं के पास आना तथा अधिकृत कार्यालय पहंुचने से पहले ही आदेशों का वायरल होना दर्शाता है कि सचिवालय में सीएम से ज्यादा अन्य लोगों की पकड़ है, क्योंकि सरकारी कार्यों के क्रियान्वित होने का एक तरीका है। उन्होंने कहा कि अधिकारी का काम अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से काम लेना होता है। उन्होंने कहा कि यदि वास्तव में उक्त कर्मचारी मानसिक प्रताड़ना का शिकार हो रहा था तो उच्चाधिकारियों को अवगत करवाता या पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाता, लेकिन 13 जून को शिकायत का होना और चंद घंटों में लोगों के व्हाट्सऐप पर बीएमओ घुमारवीं का निलंबन वायरल होना सरकारी तंत्र पर व्यक्तिगत रसूक के हावी होने को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को इस बारे में निष्पक्षता से जांच करवानी चाहिए ताकि सरकार की छवि को  खराब करने वालों के चेहरे बेनकाब हो सके। डा. सतीश शर्मा ने कहा कि यदि कोई शिकायत होती है तो पहले मामले की जांच की जाती है, तब कहीं जाकर कोई एक्शन लिया जाता है, लेकिन बीएमओ घुमारवीं को जिस प्रकार से दंडित किया गया है वह किसी प्रकार से तर्कसंगत नहीं है। संघ ने सरकार से बीएमओ की बहाली की मांग की है। वहीं संघ ने कहा कि मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र पीएचसी थाची जंजैहली (मंडी) में महिला चिकित्सक से शराबी व्यक्ति द्वारा अभद्र व्यवहार किया गया, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। उन्होंने कहा कि संघ महिला चिकित्सक के साथ खड़ा है। वहीं पश्चिम बंगाल में दो इंटर्न चिकित्सकों पर कातिलाना हमले के मामले सरकार को कड़ा संज्ञान लेना चाहिए। चिकित्सकों की सुरक्षा की गारंटी प्राथमिकता के तौर पर होनी चाहिए। सोमवार को सभी चिकित्सकों ने काले बिल्ले लगाकर अपनी ड्यूटी निभाई। बिलासपुर में आयोजित इस पत्रकारवार्ता में डा. सतीश शर्मा, डा. विजय राय, डा. गुरप्रीत कौर, डा. पारस सहगल, डा. कुलदीप, डा. पुनीत, डा. निशांत, डा. नितेश, डा. नरेश, डा. ऋषि नभ, डा. शाहिद मोहम्मद सहित अन्य मौजूद रहे पत्रकारवार्ता के बाद सीएमओ बिलासपुर के माध्यम से अतिरिक्त चीफ सेक्रेटरी (हैल्थ) को ज्ञापन भी भेजा गया।

अस्पताल परिसर में निकाला मार्च

हिमाचल प्रदेश मेडिकल आफिसर्ज एसोसिएशन बिलासपुर इकाई ने भी सोमवार को देश व्यापी हड़ताल का समर्थन करते हुए अस्पताल परिसर में चिकित्सकों की सुरक्षा की मांग करते हुए शांतिपूर्वक हड़ताल की। इस दौरान चिकित्सकों ने अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के साथ डाक्टर्स के साथ मारपीट करने के आरोपियों पर गैर जमानती वारंट जारी करते हुए मामला दर्ज करने की मांग की। इस दौरान चिकित्सकों ने अस्पताल परिसर में शांतिपूर्वक मार्च भी निकाला।

You might also like