बिहार को स्वास्थ्य क्षेत्र में जारी रहेगी बीएमजीएफ की मदद : मंगल

पटना –  बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने आज बताया कि बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन (बीएमजीएफ) की सह अध्यक्ष मिलिंडा गेट्स ने स्वास्थ्य प्रणाली में सुधारों के लिए सरकार की दीर्घकालिक योजना के आधार पर वर्ष 2021 के बाद भी स्वास्थ्य क्षेत्र में बिहार सरकार को समर्थन जारी रखने का आश्वासन दिया है। श्री पांडेय ने बताया कि अंतरर्राष्ट्रीय वुमेन डिलीवर कांफ्रेंस के दौरान कनाडा के वैंकूवर सिटी में उनके समर्थन के विस्तार के लिए किए गए अनुरोध के बाद श्रीमती गेट्स ने कहा कि फाउंडेशन वर्ष 2021 के बाद भी बिहार सरकार को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन राज्य सरकार की दीर्घकालिक स्वास्थ्य योजना तैयार होनी चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने श्रीमती गेट्स के हवाले से बताया कि सरकार की योजना के आधार पर यह स्पष्ट हो जाएगा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में बिहार सरकार की क्या जरूरतें हैं और बीएमजीएफ इसमें समर्थन कहां तक प्रदान कर सकती है। इस पर श्री पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य प्रणाली परिवर्तन एक दीर्घकालिक प्रक्रिया है और वर्ष 2030 तक सतत विकास लक्ष्य प्राप्त करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इस वजह से फाउंडेशन को 2021 के बाद भी या कम से कम 2025 तक तकनीकी समर्थन बिहार सरकार को जारी रखना चाहिए। सह अध्यक्ष का हवाला देते हुए मंत्री ने कहा कि श्रीमती गेट्स ने बिहार के प्रतिनिधिमंडल को बताया कि राज्य में चल रही परियोजना उनके और श्री गेट्स के दिल के बहुत करीब है। कई प्रतिस्पर्धी प्राथमिकताओं के कारण वे हाल के दिनों में बिहार का दौरा करने में सक्षम नहीं थे लेकिन भारत में गेट्स फाउंडेशन टीम के माध्यम से उन्हें प्रगति के बारे में नियमित रूप से अपडेट प्राप्त होता रहा है। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को सूचित किया कि हर साल वे बिहार परियोजना में हुई प्रगति की समीक्षा करते हैं।

 

You might also like