बीबीएन में एटीएम की सुरक्षा रामभरोसे

बीबीएन—औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में एटीएम की सुरक्षा रामभरोसे है, दरअसल न तो बैंक प्रबंधन इनकी सुरक्षा को लेकर संजीदा है न ही पुलिस हर एटीएम को सुरक्षा दे पा रही है। ऐसे में एटीएम में जमा लाखों की नकदी शातिर बदमाशों के निशाने पर है। हालात यह है कि बेखौफ बदमाश  चाकचौंबद सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताते हुए सरेआम लूटपाट की वारदात को अंजाम देने पर उतारू हैं। न्यू नालागढ़ में तो बदमाश एटीएम ही उखाड़ क र ले गए, हालांकि यह बीबीएन में लूटपाट का कोई पहला नहीं है, लेकिन पिछले मामलों से न तो बैंक प्रबंधन ने कोई सबक लिया न ही पुलिस सजग हो सकी। न  तो एटीएम के बाहर सिक्योरिटी गार्ड तैनात किए गए न ही अन्य सिक्योरिटी फीचर एटीएम में लगाए जा रही है नतीजतन सुरक्षा व्यवस्था को चाकचौबंद करने के तमाम दावों के बीच बदमाश लाखों की नकदी से भरे एटीएम को ले उड़े। यही ही नहीं शनिवार रात करीब सवा एक बजे हुई इस वारदात का पता बैंक को दो दिन बाद सोमवार को लगा। बैंक प्रबंधन सुरक्षा के मसले पर कितना संजीदा है उसके लिए यह एक उदाहरण ही काफी है। हैरत इस बात की है कि हाल ही में परवाणू में भी इसी तरह की वारदात घटी थी लेकिन इसके बाद भी बैंक प्रबंधन ने बीबीएन में एटीएम की सुरक्षा के लिए एहतियातन कोई कदम नहीं उठाए। यही नही जिला पुलिस प्रशासन कई मर्तबा सुरक्षा इंतजामों को लेकर बैंक प्रबंधकों को आगाह करता रहा है । मसलन पुलिस प्रशासन, बैंक प्रबंधन व एटीएम में कैश डालने वाली एजेंसी की सुस्ती से आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की चहल-कदमी एक बार फिर इलाके में तेज हो गई है। ताजातरीन वारदात के बाद पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल तो उठे ही हैं, वहीं बैंकिंग प्रबंधन की लापरवाही भी उजागर हुई है।  हालिया में जहां पुलिस जिला प्रशासन की नींद उड़ा कर रख दी है, वहीं एटीएम चलाने वाली एजेंसी एजीएस की कार्यप्रणाली भी सवालों के घेरे में आ गई है। बताते चलें कि बीबीएन में एटीएम लूटने या उखाड़ने का यह कोई पहला मामला नहीं है।  साल 2016 में लुटेरे बरोटीवाला से भी एटीएम की मशीन ही उखाड़ कर ले गए थे। हैरानी तो इस बात की है कि पुलिस की हर तरफ रात्रि गश्त 24 घंटे रहती है और बावजूद इसके बेखौफ बदमाशों ने बड़ी आसानी से एटीएम को निशाना बनाया है। डीएसपी नालागढ़ चमन लाल ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की गहनता से पड़ताल कर रही है , उमीद है कि इस मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा।

You might also like