बैंकिंग में लिवाली के दम पर गिरावट से उबरा शेयर बाजार

मुंबई – वित्तीय तथा बैंकिंग कंपनियों में लिवाली के दम पर शेयर बाजार गत दिवस की गिरावट से उबरते हुये शुक्रवार को बढ़त में बंद होने में कामयाब रहा और बीएसई का सेंसेक्स 86.18 अंक चढ़कर 39,615.90 अंक पर तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 26.90 अंक की मजबूती के साथ 11,870.65 अंक पर पहुँच गया।  विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों से भी बाजार को बल मिला। बीएसई के समूहों में बैंकिंग और वित्त के साथ दूरसंचार और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद समूहों के सूचकांक भी आधा फीसदी से अधिक चढ़े। सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली छह कंपनियों में रहे। सेंसेक्स 52.05 अंक की बढ़त में 39,581.77 अंक पर खुला और कुछ देर बाद ही लाल निशान में चला गया। पहले आधे घंटे में ही यह 39,279.47 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया। हालाँकि, बैंकों तथा वित्तीय कंपनियों में आयी तेजी से सूचकांक हरे निशान में लौटने में कामयाब रहा। कारोबार की समाप्ति से पहले 39,703.10 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 86.18 अंक यानी 0.22 प्रतिशत ऊपर 39,615.90 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियाँ लाल और शेष 12 हरे निशान में रहीं। निफ्टी 21.45 अंक की तेजी के साथ 11,865.20 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका दिवस का निचला स्तर 11,769.50 अंक और उच्चतम स्तर 11,897.50 अंक रहा। अंतत: यह गुरुवार की तुलना में 26.90 अंक यानी 0.23 चढ़कर 11,870.65 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 29 कंपनियाँ लाल और 20 हरे निशान में रहीं जबकि एक के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंत में अपरिवर्तित बंद हुये। मझौली और छोटी कंपनियों पर दबाव रहा। बीएसई का मिडकैप 0.17 प्रतिशत फिसलकर 14,906.38 अंक पर और स्मॉलकैप 0.11 प्रतिशत टूटकर 14,657.09 अंक पर रह गया। बीएसई में कुल 2,621 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,421 के शेयर गिरावट में और 1,055 के बढ़त में रहे जबकि 145 कंपनियों के शेयर अंतत: अपरिवर्तित रहे।

You might also like