बैंक पात्र लोगों को ऋण देने में न करें मना

धर्मशाला —बैंकों द्वारा पात्र लोगों को ऋण देने में की जाने वाली आनकानी के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने कड़ी क्लास लगाई है। एडीसी ने बैंकों को कड़े निर्देश जारी करते हुए बेवजह के नखरे लगाए जाने पर भी फटकार लगाई है। उन्होंनेे बैंकों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए उसमें सुधार करने की बात कही है। एडीसी राघव शर्मा ने कहा कि बैंक में लोन लेने को आम आदमी परेशान हो रहे हैं। अतिरिक्त उपायुक्त कांगड़ा राघव शर्मा ने बैंक अधिकारियों से कहा कि वह समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति की सेवा के लिए पूरे समर्पण से कार्य करें, ताकि गरीबों, वंचितों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सकें। एडीसी ने गुरुवार को उपायुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित कांगड़ा जिला के बैंकों की जिला स्तरीय समीक्षा समिति की मार्च 2019 तिमाही बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने जिला के सभी विभागों से मिलजुल कर कार्य करने के लिए कहा ताकि इससे जिला में विभिन्न विकास कार्यों में तेजी लाई जा सके।  बैठक में पंजाब नेशनल बैंक के उपमंडल प्रमुख जय पाल भनोट ने सभी का स्वागत किया। उन्होंने अपने संबोधन में बताया कि कांगड़ा जिले के बैंकों ने वार्षिक ऋण योजना 2018-19 के प्राथमिक क्षेत्र के अंतर्गत 4140 करोड़ रुपए के एवज में 2205 करोड़ रुपए वितरित किए हैं। जिला अग्रणी मुख्य प्रबंधक हरविंदर सिंह ने बैठक का संचालन किया तथा सभी बैंकों के तरफ  से आश्वस्त किया की इस वर्ष 2019-20 में ऋण जमा अनुपात को सुधारने का पूरा प्रयास किया जाएगा। बैठक में परियोजना अधिकारी डीआरडीए मुनीष शर्मा, जीएम डीआईसी राजेश शर्मा, डीडीएम नाबार्ड अरूण कुमार शर्मा, आईटीआई शाहपुर के प्राचार्य एसके लखनपाल सहित सभी बैंकों के समन्वयक तथा विभिन्न सरकारी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, हितकारी व प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

आरसेटी से 618 को मिला प्रशिक्षण

जिला स्तरीय नैशनल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त राघव शर्मा ने बताया कि वित्त वर्ष 2018-19 में 23 प्रशिक्षण कार्यक्रमों के तहत 618 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षित किया गया है। आरसेटी द्वारा वित वर्ष 2019-20 में 31 मई 2019 तक तीन कार्यक्रमों में 78 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया गया है। एडीसी ने कहा कि संस्थान ने कार्यक्रम के आरंभ से अब तक 219 कार्यक्रमों में 5635 बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षित कर रोजगार व स्वरोजगार लगाने में मदद की है।

You might also like