बैहल में मधुमक्खियों के150 डिब्बे राख

अग्निशमन विभाग ने बेकाबू लपटों पर पाया काबू; सवा पांच लाख का नुकसान, पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की छानबीन

स्वारघाट—उपमंडल स्वारघाट के तहत ग्राम पंचायत बैहल में सोमवार को आग लगने से मधुमक्खियों के करीब 150 डिब्बे जल कर राख हो गए। आगजनी की इस घटना में राकेश कुमार पुत्र इंद्रपाल गांव बैहली डाकघर लुनस तहसील नालागढ़ जिला सोलन को करीब सवा पांच लाख रुपए का नुकसान हुआ है। राकेश कुमार ने मधुमक्खियों के एक डिब्बे की कीमत लगभग साढ़ तीन हजार रुपए बताई है। मौके पर पहुंची दमकल चौकी नयनादेवी के कर्मियों ने दमकल वाहन से आग बुझा दी है, लेकिन मधुमक्खियों के डिब्बों को बचाया नहीं जा सका है। उधर मौके पर पहुंची पुलिस थाना कोट की टीम ने राकेश कुमार के बयान कलमबद्ध कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है, लेकिन आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। जानकारी के अनुसार राकेश कुमार पुत्र इंद्रपाल गांव बैहली डाकघर लुनस तहसील नालागढ़ जिला सोलन ने कृष्णी देवी पत्नी स्व. करतार सिंह निवासी गांव बैहल की घासनी में मधुमक्खियों के 150 डिब्बे रखे हुए थे और सोमवार शाम को वह इन डिब्बों को ले जाने वाला था, लेकिन इससे पहले कि वह डिब्बों को ले जाता सोमवार दोपहर अचानक डिब्बों के आसपास दोनों तरफ  से आग लग गई, जिससे आग की चपेट में आने से मधुमक्खियों के डिब्बे जल गए। सड़क से गुजर रहे ग्राम पंचायत बैहल के प्रधान रामकुमार शर्मा ने आग को देखा और राकेश कुमार को इसकी जानकारी  दी, जिसके बाद राकेश कुमार ने पुलिस थाना कोट और दमकल चौकी नयनादेवी में इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंच फायर कर्मियों ने आग को बुझा दिया, लेकिन तब तक लगभग सारे डिब्बे जलकर राख हो चुके थे। उधर कोट पुलिस ने राकेश कुमार के बयान कलमबद्ध कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

You might also like