ब्यास तर करेगी 18 पंचायतों के सूखे खेत

मंडी— छोटीकाशी मंडी के बीचो-बीच से लबा-लब बहते ब्यास दरिया के पानी को सदर विधानसभा क्षेत्र के पहाड़ी इलाके की पंचायतों के खेतों तक पहुंचाने की मांग हिमाचल बचाओ संघर्ष मोर्चा ने की है। मोर्चा के संयोजक लक्ष्मेंद्र गुलेरिया ने इस संबंध में जिला प्रशाासन को ज्ञापन सौंप कर प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत यह योजना तेयार करवाने की मांग की है। लक्ष्मेंद्र गुलेरिया ने बताया कि सदर विधान सभा क्षेत्र मंडी की लगभग 18 पंचायतों की कृषि भूमि को उपजाऊपन बनाने के लिए पानी की अति आवश्यकता है। इसलिए ब्यास दरिया पर पंडोह से बडाणू सात मील तक कहीं भी जल भंडारण के लिए डैम साइट का निर्माण करवाए जाए और वहां से पंप हाऊस स्थापित कर पानी को कोटमोर्स भंडारित किया जाए। उन्होंने कहा कि कोटमोर्स में पानी पहुंचने के बाद यहां से ग्रेबटी आधार पर ही सभी पंचायतांे के खेतों में पानी पहुंचाया जा सकता है। उन्हांेने कहा कि अगर इस योजना को आईपीएच विभाग तेयार करता है तो क्षेत्र की 18 पंचायतों जिनमें कोटमोर्स, जागर, धार, मझवाड़, दूदर, कैहनवाल, तल्याहड़, संयारड़, पधियूं कठलग, तांदी, पैड़ी, रंधाड़ा, अलाथू, मराथु, जनेड़, गोखड़ा, देवधार, बाड़ी गुमाणू व साइगलू के खेत पानी से तर हो जाएंगे। जिससे किसान और बागबान बेहतर खेती कर सकेंगे। जिससे उनकी आय भी दोगुनी हो सकेगी। उधर, अतिरिक्त उपायुक्त मंडी आशुतोष गर्ग ने उपायुक्त मंडी के आदेशों पर आईपीएच विभाग मंडी के अधिशाषी अभियंता को पत्र लिखकर सात दिनों के भीतर रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।

You might also like