भद्रवाड़ में छह कमरों का घर जला

एकाएक सुलगी चिंगारी, 39 हजार कैश सहित सात लाख की संपत्ति स्वाह

सरकाघाट – सरकाघाट उपमंडल की ग्राम पंचायत मुख्यालय भद्रवाड़ में छह  कमरों का स्लेटपोश मकान जलकर राख हो गया।  जानकारी के अनुसार जगदीश चंद पुत्र दीवान चंद सुबह के करीब 6 बजे  खेतों में पत्नी के साथ खेतीबाड़ी का काम करने चला गया और घर पर उसकी सात साल की बेटी रह गई, जो  आंगन में खेल रही थी। पंचायत उपप्रधान दीनानाथ के अनुसार सुबह के सात बजे का समय था तो उस वक्त जगदीश चंद के घर से आग की लपटें निकलने लगीं। घर को आग लगी देखकर जगदीश चंद की बेटी ने जोर-जोर से रोना शुरू कर दिया और घर को आग लगने की बात कही। उसकी रोने की आवाज सुनकर खेतों में काम कर रहे उसके मां-बाप घर की ओर दौड़ कर चले आए और उसी समय आसपास के घरों के लोग जो जगदीश चंद के मकान से करीब तीन सौ मीटर की दूरी पर रहते थे, भी आ गए और उसके बाद सभी मिलजुलकर आग बुझाने का प्रयास करने लगे। जब तक ग्रामीण आग बुझाने आए, तब तक दो मंजिला मकान जलकर राख हो गया। इस आग में परिवार के सदस्यों के पास पहने हुए कपड़ों के सिवाय कुछ भी नहीं बचा। पंचायत के उपप्रधान ने राजस्व विभाग के पटवारी और कानूनगो और पुलिस को भी घटना की सूचना दी और दोनों विभागों के अधिकारी और कर्मचारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। मकान मालिक के अनुसार उसके घर में रखे घरेलू सामान के साथ-साथ सोने के गहने, फ्रिज, टीवी, वाशिंग मशीन सहित अन्य कीमती सामान और 39 हजार रुपए की नकद राशि जलकर राख हो गई है और उसे करीब सात लाख रुपए का नुकसान हुआ है, जबकि राजस्व विभाग के कर्मचारियों ने आग से हुई क्षति का आकलन करना शुरू कर दिया है। पंचायत उपप्रधान दीनानाथ के अनुसार जगदीश चंद के घर की रसोई घर के साथ थोड़ी दूर थी, जिसके कारण रसोई गैस सिलेंडर का विस्फोट होने से बच गया। कार्यवाहक एसडीएम हुसन चंद ने   प्रभावित परिवार को तत्कालीन राहत के अनुसार 20 हजार रुपए की राशि दे दी गई है और विभाग के राहत मैनुअल के अनुसार उचित मुआवजा दिया जाएगा।

You might also like