भारत कभी दोस्तों को नहीं भूलता

श्रीलंका में बोले पीएम मोदी, भारतीय समुदाय के लोगों को दिया हिंदुस्तान की छवि बदलने का श्रेय

कोलंबो – लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पहले विदेश दौरे के दूसरे चरण में रविवार को श्रीलंका पहुंचे। कोलंबो के भंडारनायके इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर श्रीलंकाई प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने पीएम मोदी का स्वागत किया। यहां से पीएम मोदी कोलंबो के सेंट एंटनी चर्च पहुंचे और अप्रैल में हुए आत्मघाती सीरियल ब्लास्ट में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। बता दें कि ईस्टर धमाकों के बाद पीएम मोदी श्रीलंका पहुंचने वाले पहले विदेशी नेता हैं। पीएम ने अपने चर्च दौरे की तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा कि उन्हें विश्वास है कि श्रीलंका फिर खड़ा होगा। श्री मोदी ने कहा भारत के दोस्तों को जब उसकी जरूरत होती है, तो वह उन्हें कभी नहीं भूलता। पीएम ने श्रीलंका पहुंचने के बाद ट्वीट किया कि श्रीलंका में पहुंचकर बहुत खुश हूं, चार वर्षों में इस सुंदर द्वीप में मेरी तीसरी यात्रा है। श्रीलंका के लोगों द्वारा दिखाए गए गर्मी को समान माप में साझा करें। श्रीलंका की जनता की गर्मजोशी को साझा कर रहा हूं। भारत जरूरत के समय अपने दोस्तों को कभी नहीं भूलता। उन्होंने लिखा कि औपचारिक स्वागत से बहुत प्रभावित हुआ हूं। इसके बाद प्रधानमंत्री ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के साथ दस दिनों के अंदर दूसरी बार मुलाकात की और दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि आतंकवाद ‘संयुक्त’ खतरा है, जिस पर संयुक्त कार्रवाई की जरूरत है। मोदी को अपने विशेष मित्र सिरिसेना से बुद्ध की समाधि वाली कलाकृति बतौर विशेष उपहार मिली। मोदी ने कोलंबो में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने दुनिया में भारत की छवि बदलने का श्रेय दुनिया के अलग-अलग कोने में रहने वाले भारतीयों को दिया। उन्होंने कहा कि अब भारत को देखने का दुनिया का नजरिया बदला है।

राष्ट्रपति भवन में लगाया अशोक का पौधा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के आवास राष्ट्रपति भवन परिसर में सदाबहार अशोक का पौधा लगाया।  पौधे के पास एक पट्टिका भी रखी गई है, जिस पर लिखा है ‘अशोक सरका अशोक’, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलंबो में नौ जून, 2019 को रोपा।

You might also like