भारत को जीएसपी से हटाने पर बयान दें मोदी : कांग्रेस

नई दिल्ली – कांग्रेस ने अमेरिका के विकासशील देशों के लिए सामान्य प्राथमिकता प्रणाली (जीएसपी) से भारतीय उत्पादों को हटाने के फैसले को मोदी सरकार की निष्क्रियता का परिणाम बताया और कहा कि आने वाले दिनों में इस निर्णय के कई क्षेत्रों में बड़े दुष्परिणाम देखने को मिलेंगे इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस संबंध में असली स्थिति देश को बतानी चाहिए। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमेरिका की जीएसपी सूची से भारत पांच जून काे बाहर हो जाएगा। इसका सीधा असर भारतीय निर्यातकों पर पड़ेगा और देश की अर्थव्यवस्था प्रभावित होगी। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने भारत को इसकी सूचना मार्च में दी थी लेकिन मोदी सरकार इस संबंध में निष्क्रिय बनी रही है। समस्या का समाधान के लिए कोई कदम उठाने का प्रयास नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि जीएसपी प्रणाली के तहत विकसित देशों द्वारा सभी विकासशील देशों के उत्पादों को आयात शुल्क में समान छूट मिलती है। भारत को इस सूची से हटाने की कवायद शुरू करने के साथ ही अमेरिका ने दो माह पहले यानी 60 दिन का नोटिस देते हुए भारत से अपनी आपत्ति व्यक्त कर दी थी लेकिन मोदी सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया और वह निष्क्रिय बनी रही। प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका के इस फैसले से भारत को तीन लाख 80 हजार आठ सौ करोड़ रुपए के निर्यात का नुकसान होगा। देश में बेरोजगारी पहले से ही 45 साल के उच्चतम स्तर पर है और यदि अमेरिका के इस फैसले को टाला नहीं गया तो देश के युवाआों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

 

You might also like