भावुकता से नहीं, प्रोफेशनल अंदाज से खेले

मैनचेस्टर -चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को विश्वकप मुकाबले में डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन के बड़े अंतर से धूल चटाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि टीम ने इस मुकाबले को पूरे पेशेवराना अंदाज में जीता। विराट ने कहा कि पाकिस्तान ने दो साल पहले चैंपियन्स ट्राफी  के फाइनल में हमें पराजित किया था, लेकिन इसके अलावा हमने उनके खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है। अगर मैच में आप भावुकता से भरे होंगे तो वह आपको परेशान  करेगा। हम कभी भी ऐसे मुकाबले को फैंन्स के नजरिए से नहीं देखते हैं। क्रिकेट खिलाड़ी होने के नाते हमारा ध्यान सिर्फ अपने प्रदर्शन पर केंद्रित  होता है। भारतीय कप्तान ने इस मुकाबले में शानदार 140 रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन बल्लेबाजी से यह साबित किया है कि वह वाकई वनडे के जबरदस्त खिलाड़ी हैं। रोहित के शतक की बदौलत भारत 50 ओवर में 336 रन का मजबूत स्कोर बनाने में कामयाब रहा। विराट ने कहा कि विश्वकप के पहले तीन मैचों में रोहित ने अच्छी बल्लेबाजी की है। पहले  मुकाबले में उन्होंने अकेले मैच जितवाया, जबकि दूसरे मुकाबले में टीम के  योगदान से हमें जीत मिली और पाकिस्तान के खिलाफ फिर रोहित का दिन था। उन्होंने  कहा कि आपको 330 रन से ज्यादा का लक्ष्य निर्धारित करने के लिए पूरे टीम के  योगदान की जरूरत होती है। लोकेश राहुल ने रोहित के साथ अच्छी साझेदारी की। रोहित जब 75 रन बना लेते हैं, तो फिर उन्हें रोकना मुश्किल हो जाता है। उन्होंने साबित किया कि वह कैसे एक शानदार वनडे खिलाड़ी हैं। दोनों की साझेदारी की बदौलत ही मैं अपना नियमित खेल सका और इस साझेदारी के कारण ही हार्दिक पांड्या भी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर सके।

अब 22 को अफगानों से टक्कर

भारत को अगले तीन मुकाबलों में 22 जून को अफगानिस्तान, 27 जून को वेस्ट इंडीज और 30 जून को इंग्लैंड के खिलाफ खेलना है। बता दें कि इससे पहले नियमित ओपनर शिखर धवन के रूप में झटका लगा था। उनकी जगह पाकिस्तान के खिलाफ लोकेश राहुल को टीम में शामिल किया गया था।

You might also like